दुनिया

ट्रम्प के समर्थक हथियार लेकर सड़कों पर निकले!

अमरीकी राज्यों जाॅर्जिया व एरिज़ोना से मिलने वाली तस्वीरों से पता चलता है कि डोनल्ड ट्रम्प के समर्थक हथियार लेकर सड़कों पर आ गए हैं और राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेट प्रत्याशी के जीतने पर आपत्ति कर रहे हैं।

मीडिया की ओर से चुनाव में बाइडेन की जीत की घोषणा और इसी तरह ट्रम्प की ओर से अपनी हार स्वीकार न करने संबंधी बयान के बाद उनके समर्थकों में रोष बढ़ गया है और वे हथियार लेकर जाॅर्जिया व एरिज़ोना की सड़कों पर निकल आए हैं। ट्रम्प के समर्थकों को सभी मतों की गिनती और औपचारिक रूप से चुनाव परिणामों के एलान से पहले बाइडेन की जीत की घोषणा पर आपत्ति है।

ट्रम्प के समर्थक पिस्तौल, स्टेनगन और शाॅटगन लेकर सड़कों पर निकल आए हैं। इससे कुछ देर पहले सीएनएन, फ़ाॅक्स न्यूज़, सीबीएस, एसोशिएटेड प्रेस और न्यूयाॅर्क जैसे प्रिंट व इलेक्ट्राॅनिक मीडिया ने इस बात का उल्लख करते हुए कि बाइडेन 290 इलेक्टोरल वोट हासिल करने में कामयाब हो गए हैं, चुनाव में उनकी जीत की घोषणा कर दी थी। इसके बाद राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने प्रतिस्पर्धी की जीत को अस्वीकार करते हुए दावा किया था कि वे किसी भी राज्य में नहीं जीत पाए हैं और अभी चुनाव पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुआ है।

हार नहीं मानने वाले ट्रम्प, ट्वीटर और ट्रम्प में छिड़ी जंग, कई ट्वीट्स को किया हाइड…

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने राष्ट्रपति चुनाव पर सवाल उठाते हुए कहा कि हमारे पर्यवेक्षकों को वोटों की गिनती देखने के लिए विशेष कमरे में जाने की अनुमति नहीं दी गयी।

उनका कहना था कि निर्वाचित मैं हुआ, मुझे 71 लाख क़ानूनी वोट मिले हैं किन्तु कई ग़लत चीज़ें हुईं जिनमें हमारे पर्यवेक्षकों को वोटों की गिनती की प्रक्रिया की निगरानी करने की अनुमति न देना भी शामिल है।

उनका कहना था कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, डाक द्वारा लाखों लोगों को डाक बैलेट भेजे गये जिसकी उन्होंने मांग भी नहीं की थी।

एक और ट्वीट में उनका कहना था कि मैंने यह चुनाव बड़े फ़र्क़ से जीता है।

किन्तु ट्वीटर ने इन दोनों ट्वीट्स के नीचे लेबल लगा दिया जिस पर लिखा है कि अंतिम परिणामों की घोषणा उस समय नहीं की गयी थी जब यह ट्वीट किया गया।

ज्ञात रहे कि यह पहली बार नहीं है कि डोनल्ड ट्रम्प के ट्वीट पर इस तरह का लेबल लगा हो। पिछले दिन ही वोटिंग प्रक्रिया के दौरान वाइट हाऊस में अकेले रहते हुए डोनल्ड ट्रम्प ने कई असमान्य ट्वीट्स किए थे।

इन सारे ट्वीट्स को ट्वीटर ने हाइड करते हुए इससे विवादित और गुमराह करने वाले का लेबल लगा दिया था।

ट्रम्प ने इन ट्वीट्स में कहा था कि जनता मतगणना की प्रक्रिया को रोकने की मांग कर रही है और हम पारदर्शिता की मांग करते हैं क्योंकि हमारे क़ानूनी पर्यवेक्षकों को मतगणना के कमरों में जाने की अनुमति नहीं दी गयी थी।

उन्होंने दावा किया कि मंगलवार की रात 8 बजे के बाद भी हज़ारों वोट ग़ैर क़ानूनी तरीक़े से हासिल हुए जो आसानी से पेन्सलवेनिया और अन्य राज्यों में परिणामों को बदल रहे हैं।

उनका कहना था कि यह अनेक राज्यों में चुनावी परिणामों को बदल देगा, पेन्सलवेनिया जिसे सब आसानी से जीता हुआ समझ रहे थे।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि जिस दौरान क़ानूनी पारदर्शिता की अनुमति नहीं दी गयी उनमें कई ग़लत चीज़ें हुईं, ट्रैक्टर्ज़ दरवाज़ों पर रुकावट बने और खिड़कियां मोटे कार्ड बोर्ड्ज़ से ढक दी गयीं ताकि पर्यवेक्षक गिनती के कमरों में न देख सकें।

उन्होंने दावा किया कि अंदर ग़लत चीज़ें हुईं, बड़े परिवर्तन हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *