देश

नए कृषि क़ानूनों से किसानों को ताक़त मिली है : प्रधानमंत्री मोदी

भारत के प्रधानमंत्री दिल्ली की सीमा पर चल रहे किसान आंदोलन के बीच नए कृषि कानूनों पर बात की है और कहा है कि नए कृषि क़ानूनों से किसानों को ताक़त मिली है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात नामक रेडियो कार्यक्रम में कहा कि बीते दिनों हुए कृषि सुधारों ने किसानों के लिए नई संभावनाओं के दरवाज़े खोले हैं। उन्होंने कहा कि इन अधिकारों ने बहुत ही कम समय में, किसानों की परेशानियों को कम करना शुरू कर दिया है। मोदी ने कहा कि काफ़ी विचार-विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को क़ानूनी रूप दिया है और इन सुधारों से न सिर्फ़ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए हैं, बल्कि उन्हें नए अधिकार और नए अवसर भी मिले हैं। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब जब ऐसे क़ानून की ताकत हमारे किसान भाई के पास है तो उनकी समस्याओं का समाधान सरल हो जाएगा।

इस बीच इन नए कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसानों ने दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाल रखा है। नए कृषि क़ानून के ख़िलाफ़ आंदोलनकारी किसान एक तरफ़ जहां दिल्ली की सिंघु और टिकरी सीमा पर डटे हुए हैं, वहीं उत्तर प्रदेश की सीमा पर भी भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के नेतृत्‍व में हज़ारों की संख्या में किसान जुट गए है। उधर हरियाणा के किसानों ने भी कई जगह सड़कों को जाम किया और दिल्ली सीमा के पास प्रदर्शन किया। दिल्ली की सीमाओं पर डेरा जमाये आंदोलनकारी किसानों से भारत के केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आंदोलन ख़त्म करके सरकार से बातचीत की अपील की है लेकिन किसान नेताओं ने कहा है कि वे किसी भी शर्त वाले वार्ता प्रस्ताव को स्वीकार नहीं करेंगे। किसानों की मांग है कि नए कृषि क़ानूनों को वापस लिया जाए।

—-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *