दुनिया

इटली ने किया सऊदी गठबंधन को हथियार न बेचने का फ़ैसला

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने इटली के हमलावर सऊदी गठबंधन को हथियार न बेचने के फ़ैसले का स्वागत किया है।

न्यूज़ एजेंसी फ़ार्स के मुताबिक़, यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने एक बयान में कहा है कि इटली का यमन पर हमला करने वाले देशों को हथियार की बिक्री पर रोक लगाने का फ़ैसला, शांति प्रक्रिया और आम लोगों के समर्थन में उठाया गया सार्थक क़दम है।

अलजज़ीरा टीवी चैनल के मुताबिक़, इतालवी सरकार ने सऊदी अरब और यूएई को मिसाइल और बम बेचने के लाइसेंस को रद्द कर दिया और वह सऊदी गठबंधन को आगे से नए हथियार नहीं बेचेगी।

वॉल स्ट्रीट जरनल ने भी हाल ही में एक अमरीकी अधिकारी के हवाले से रिपोर्ट दी है कि अमरीकी सरकार ने भी, ट्रम्प सरकार के दौर में कई अरब डॉलर के हथियार के सौदे की समीक्षा के साथ ही यूएई को एफ़-35 फ़ाइटर जेट और सऊदी अरब को गाइडेड मीज़ाईल बेचने पर फ़िलहाल रोक लगा दी है।

सऊदी अरब, अमरीका, यूएई और कई दूसरे देशों के समर्थन से 26 मार्च 2015 से यमन पर हमले कर रहा और उसने इस देश की ज़मीनी, हवाई और समुद्री नाकाबंदी कर रखी है।

यमन पर सऊदी गठबंधन के हमलों में अब तक 16 हज़ार से ज़्यादा यमनी शहीद, दसियों हज़ार घायल और दसियों लाख बेघर हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *