देश

#कोलकाता : ड्रग्स तस्करी में गिरफ़्तार #राकेश_सिंह का #पश्चिम_बंगाल के #राज्यपाल के साथ नजदीक़ी संबंध है!

Archana Singh
@BPPDELNP
Feb 21
#कोलकाता में ड्रग्स के साथ पकड़ी गई #भाजपा नेत्री #पामेला जिस #राकेश_सिंह का नाम ले रही है उसका #पश्चिम_बंगाल के #राज्यपाल के साथ नजदीकी संबंध है !
ये वही राज्यपाल महोदय हैं जिन्हें बंगाल जलता हुआ दिख रहा था !
तो सवाल ये उठता है कि क्या इस पूरे प्रकरण में इन सबकी भूमिका है? Thinking faceThinking face

 

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

 

दुनिया के 5 सबसे खतरनाक अपराधी, जिन्हें अदालत ने सुनाई सौ साल से ज्यादा की सजा

60 की उम्र पार करने के बाद इंसान का बुढ़ापा आ जाता है। वहीं बहुत ही मुश्किल से कोई इंसान 80 से 100 साल की उम्र तक जी पाता है। लेकिन ऐसे में किसी अपराधी को अदालत के द्वारा हजारों-लाखों साल की जेल में रहने की सजा सुना दी जाए, तो जाहिर है कि कोई भी हैरान हो सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही अपराधियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें उनके अपराध के लिए अदालत की ओर से हजारों-लाखों साल की सजा सुनाई गई है।

थाईलैंड की चमोए थिप्यासो नामक महिला दुनिया की सबसे लंबी जेल की सजा पाने वालों में से एक है। उसे साल 1989 में अदालत द्वारा 1,41,078 साल की सजा सुनाई गई थी। दरअसल, थिप्यासो को एक पिरमिड स्कीम में 16,231 लोगों के करीब 19 करोड़ रुपये का चूना लगाने का दोषी पाया गया था। हालांकि, इस घटना के बाद थाईलैंड में एक कानून पास हुआ कि धोखाधड़ी के मामले में अपराधी को कितनी भी लंबी सजा क्यों न सुनाई गई हो, उसे 20 साल से अधिक जेल में नहीं रखा जा सकता है।

साल 1994 में एलन वेन मैकलॉरिन नाम के एक शख्स को कई मामलों में दोषी करार दिया गया था। ऐसे में उसे कुल 21,250 साल की सजा मिली थी। एलन को रेप के चार मामलों में कुल आठ हजार साल, जबरन अप्राकृतिक संबंध बनाने के चार मामलों में आठ हजार साल, अपहरण के मामले में 1750 साल, खतरनाक हथियार से हमले के मामले में 1500 साल और लूटपाट के कुछ मामलों में 500-500 साल की सजा सुनाई गई थी। एलन के साथी को भी अदालत ने कुल 11,250 साल की सजा सुनाई थी।

स्पेन के 22 वर्षीय पोस्टमैन गैब्रीअल मार्च ग्रनाडोस को साल 1972 में 3,84,912 साल की सजा सुनाई गई थी। उसे 40 हजार से ज्यादा पत्र और पार्सल डिलिवर न करने का दोषी पाया गया था। अदालत ने प्रत्येक पत्र और पार्सल के बदले उसे 9-9 साल की सजा सुनाई थी। हालांकि, बाद में उसकी लाखों साल की ये सजा घटाकर 14 साल कर दी गई थी।

साल 1994 में अमेरिकी राज्य अल्बामा के रहने वाले चार्ल्स स्कॉट रॉबिन्सन नाम के शख्स को अदालत ने रेप के मामले में कुल 30 हजार साल की सजा सुनाई थी। जज ने उसे कुल छह मामलों में 5-5 हजार साल की सजा सुनाई थी। चार्ल्स को इतनी लंबी सजा सुनाने के बाद जज ने बताया कि वह उसे बिना परोल के उम्रकैद की सजा नहीं दे सकते थे, इसलिए उन्होंने इतनी लंबी सजा सुनाई, ताकि वह अपनी बाकी की जिंदगी जेल में ही बिताए। इसका मतलब ये था कि चार्ल्स को पहली परोल तब मिलती, जब उसकी उम्र 108 साल हो जाती।

स्पेन की राजधानी मैड्रिड में साल 2004 में हुए ट्रेन विस्फोटों में शामिल आतंकियों में से एक आतंकी ऑथमैन अल नाओई को अदालत ने 42,924 साल की सजा सुनाई थी, जबकि उसके साथी जमाल जोउगम को 42,922 साल की सजा सुनाई गई थी। हालांकि, स्पैनिश कानून कहता है कि किसी को भी 40 साल से अधिक जेल में नहीं रखा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *