दुनिया

ड्राइविंग की अनुमति मिलने के बाद अब सऊदी अरब में महिलाओं को मिली सेना में भर्ती होने की अनुमति!

ड्राइविंग की अनुमति मिलने के बाद अब सऊदी महिलाओं को इस देश की सेना में जाने का भी अवसर प्राप्त हुआ है।

जहां पर ड्राइविंग करने की भी अनुमति नहीं थी वहीं पर महिलाएं अब बंदूक उठने जा रही हैं।

अरब न्यूज़ के अनुसार सऊदी अरब के रक्षामंत्रालय ने एक बयान जारी किया है जिसमें इस देश की सशस्त्र सेनाओं में महिलाओं की भर्ती की बात कही गई है।

इस बयान में कहा गया है कि देश की सेना में पुरुष और महिलाएं दोनों ही शामिल हो सकते हैं। सऊदी अरब के रक्षामंत्रालय के बयान के अनुसार देश की सेना, राॅएल सऊदी एयर डिफेंस, राॅएल सऊदी नेवी, राॅएल सऊदी स्ट्रैटेजिक मिसाइल फोर्स और आर्म्ड फोर्सेज़ मेडिकल सर्विस में महिलाओं को सोलजर से सारजेंट रैंक पर भर्ती किया जाएगा।

बयान में कहा गया है कि निवेदन करने वाले को भर्ती की सारी शर्तों को पूरा करना होगा। मंत्रालय की ओर से जारी बयान में यह भी बताया गया है कि देश की सशस्त्र सेना में महिलाओं की भर्ती 21 वर्ष की आयु से होगी और वे कम से कम हाई स्कूल पास हों।महिलाओं को सेना में शामिल करने के बारे में सऊदी अरब के रक्षामंत्रालय ने एक इस बयान पर विभिन्न वर्गों की ओर से अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं।

याद रहे कि हालिया कुछ महीनों के दौरान सऊदी अरब में महिलाओं को समाज में कई अन्य भूमिकाएं निभाने की अनुमति दी जा चुकी है। इससे पहले वहां पर महिलाओं को ड्राइविंग की भी अनुमति नहीं थी। महिलाओं के लिए ड्राइविंग की मांग करने वाली सऊदी अरब की मशमहूर महिला कार्यकर्ता लुजैन हज़्लूल को हाल ही में जेल से स्वतंत्र किया गया है जो 2018 से जेल में बंद थीं। यहां पर इस बात का उल्लेख आवश्यक है कि लंबे समय से मानवाअधिकार संगठनों की ओर से सऊदी अरब की आलोचना की जाती रही है क्योंकि वहां से मानवाधिकारों के हनन की बहुत सी शिकायतें इन संगठनों को प्राप्त हुई हैं।

महिलाओं को दी स्टेडियम में फुटबॉल मैच देखने की अनुमति

सऊदी अरब के युवराज मुहम्मद बिन सलमान (32) की हरी झंडी मिलने के बाद अक्टूबर 2017 में जनरल स्पोर्ट्स अथॉरिटी ने जेद्दा, दम्मम और रियाद के स्टेडियमों में दर्शक के रूप में महिलाओं के प्रवेश की अनुमति दी। स्टेडियम में महिलाओं से जुड़ी सुविधाएं स्थापित करने के बाद 2018 में इस अनुमति पर अमल शुरू हुआ है। इससे पहले सऊदी अरब में पुरुषों के खेलों को देखने की महिलाओं को अनुमति नहीं थी।

सेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंधसेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंध

सउदी में महिलाओं को मिली बाइक-ट्रक चलाने की अनुमति

सऊदी यातायात महानिदेशालय ने शुक्रवार को नए नियमों का ब्योरा दिया। उसने कहा कि हम महिलाओं को मोटरसाइकिल और ट्रक चलाने की इजाजत देंगे। शाही आदेश में कहा गया है कि ड्राइविंग कानून महिला और पुरुष दोनों के लिए समान होगा। महिलाओं द्वारा चलाई जाने वाली कार के विशेष नंबर प्लेट नहीं होंगे। सड़क दुर्घटना में शामिल या यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाली महिलाओं के लिए विशेष केंद्र बनाए जाएंगे। इन केंद्रों का संचालन महिलाएं करेंगी।

सेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंधसेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंध

रोबोट सोफिया को देश की नागरिकता दे दुनिया को चौंकाया

दुनिया की शायद सबसे समझदार और खूबसूरत इंसानी मशीन यानी कि ह्यूमनॉएड रोबोट सोफिया ने आजकल दुनिया को चौंकने पर मजबूर कर दिया है। क्योंकि उसे इंसान की ही तरह दुनिया के एक बड़े देश सऊदी अरब ने अपनी नागरिक बना लिया है। सऊदी अमेरिकी पब्लिक रिलेशन अफेयर्स कमेटी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस बात की घोषणा की है। कमेटी ने सऊदी देशवासियों के साथ-साथ दुनिया से कहा है कि उसके इस खास नागरिक का दिल से स्वागत करें।

सेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंधसेना में भी जा सकेंगी महिलाएं,जानें सउदी अरब क्‍यों धड़ाधड़ हटा रहा महिलाओं पर से प्रतिबंध

महिलाओं को कार खरीदने और चलाने की दी परमिशन

सउदी अरब ने महिलाओं को पहली बार ड्राइविंग की इजाजत देकर दुनिया को चौंका दिया था। दरअसल यह देश एक कट्टर इस्लामिक देश है। इस देश में महिलओं के वाहन चलाने पर प्रतिबंध था। लेकिन महिलाओं को वाहन चलाने की इजाजत देकर सबको चौंका दिया। खैर इससे वहां की महिलाओं में काफी खुशी का माहौल है। वे कार की स्टेरिंग पकड़े सेल्फी और तस्वीरें खिंचवा कर अपनी खुशी का इजहार भी कर रही हैं।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *