सेहत

कोविड पर फिर मचा हंगामा : कोविड के टीके के साइडइफ़ेक्ट द्वितीय विश्व युद्ध से ज़्यादा ख़तरनाक : वीडियो

ऐसे समय जब वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन का कहना है कि कोविड-19 का टीकाकरण अच्छी तरह काम नहीं कर रहा है और इसका साइडइफ़ेक्ट, दूसरे विश्व युद्ध के मानसिक आघात की तुलना में ज़्यादा और लंबे समय तक रहता है

यूएन के अधीन इस संस्था की अध्ययन टीम अब तक कई बार चीन के वुहान शहर के उस बाज़ार का मुआयना कर चुकी है जहाँ पालतु, जंगली, जिन्दा और मुर्दा जानवर बिकते हैं ताकि पता कर सके कि यह मंहूस वायरस कहाँ से आया है।

चमगादड़ संदेह के दायरे से निकल गए हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन के वैज्ञानिकों का कहना है कि शायद इस बात का पता लगाने में 5 साल लग जाएं कि यह वायरस किस जानवर से किस शिकार करने वाले जानवर में पहुंचा और फिर किस तरह उसने पूरी दुनिया के लोगों को निशाना बनाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *