विशेष

देश ने एक झूठे इंसान को कुर्सी थमा दी है, जो असल में तानाशाह है!

 

कश्मीर में बारिश और बर्फबारी से दिन के तापमान में सामान्य से 5 से 8 डिग्री तक गिरावट आई

जम्मू-कश्मीर में सोमवार को मौसम ने फिर करवट बदली। कश्मीर में बारिश और बर्फबारी से दिन के तापमान में सामान्य से 5 से 8 डिग्री तक गिरावट आई है। जम्मू संभाग के भी कई हिस्सों में बारिश से मौसम सुहावना हो गया। पर्वतीय क्षेत्रों में तेज हवाएं चलीं। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर ने 11-12 मार्च को जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों में बादलों के गरजने और तेज हवाओं के साथ बारिश की चेतावनी दी है। 9-10 मार्च को भी कुछ हिस्सों में बारिश के आसार हैं।

श्रीनगर में रविवार रात से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला सोमवार भी जारी रहा। कई हिस्सों में तेज बारिश हुई। मौसम में अचानक आए बदलाव से श्रीनगर समेत कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में फिर से ठंड बढ़ गई है। श्रीनगर में दिन का तापमान सामान्य से 7.6 डिग्री गिरकर 6.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कश्मीर के कई पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। गुलमर्ग में 24 इंच, गुरेज में 7 इंच, तुलेल में 9 इंच, राजदान टाप में 10 इंच, जोजीला में 10 इंच, दूधपत्थरी में 5 इंच, पहलगाम में 4 इंच, शोपियां में 5 इंच बर्फ गिरी।

उधमपुर, चिनैनी सहित जिले के कई अन्य हिस्सों में हल्की बारिश हुई। तेज हवाओं से तपिश से राहत मिली। जम्मू जिले के आसपास के हिस्सों में हल्की बारिश हुई। दोपहर को मौसम साफ होने के बाद शाम को फिर बादल छा गए। जम्मू में दिन का तापमान सामान्य से थोड़ा चढ़कर 27.4 और बीती रात का न्यूनतम तापमान 16.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। संभाग के बनिहाल में दिन का तापमान 14.2, बटोत में 12.2, कटड़ा में 20.6 और भद्रवाह में 13.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

स्थान बारिश (मिलीमीटर)
श्रीनगर 17.5
पहलगाम 6.9
गुलमर्ग 49.4
बनिहाल 11.2
बटोत 6.6
कटड़ा 6.6

Manoj KAKA
@ManojSinghKAKA
कोलकाता के ब्रिगेड मैदान में जहां नरेंद्र मोदी जी एक बार फिर अपनी कथित ग़रीबी को बेचते हुए किसानों और ग़रीबों को दोस्त बता रहे थे, वहीं टिकरी बॉर्डर पर किसान राजवीर ने फंदा लगा लिया
राजवीर सिंह को पता चल चुका था कि देश ने एक झूठे इंसान को कुर्सी थमा दी है, जो असल में तानाशाह है !

Arfa Khanum Sherwani
@khanumarfa
“जिस औरत को घर का कामकाज और चूल्हे तक सीमित रखा जाता था, वो औरतें आज सरकार की नींद हराम कर रही हैं”
किसान आंदोलन से जुड़ी सैकड़ों औरतों ने आज अपने जीवन का पहला महिला दिवस मनाया।

ShahzadaSadiq Rohela
@ShahzadasadiqR
RSS धर्म निरपेक्षता में विश्वास नही करती
जो कि संविधान की मूल भावनाओं के खिलाफ है
जो लोग धर्मनिरपेक्ष ता में विश्वास नही करते वो संविधान से प्यार नही करते
ये गंभीर विषय है @rashtrapatibhvn ji व सम्पूर्ण विपक्ष को संज्ञान लेना चाहिए

डिस्क्लेमर : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *