उत्तर प्रदेश राज्य

उत्तर प्रदेश : कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज़ ले चुके महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. डीएस नेगी हुऐ कोरोना संक्रमित!

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। रविवार को प्रदेश के महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ. डीएस नेगी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके साथ ही उनके निजी सचिव व स्टाफ अफसर भी कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। खास बात है कि सभी संक्रमित कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं।

इसके अलावा, मेदांता लखनऊ अस्पताल के निदेशक डॉ. राकेश कपूर भी कोविड पॉजिटिव हो गए हैं। वह एसजीपीजीआई के पूर्व निदेशक रह चुके हैं। वह भी कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव और सार्वजनिक कार्यक्रमों में जुटी भीड़ के बीच कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। यूपी में सिर्फ एक हफ्ते में ही रोजाना मिलने वाले मरीजों की संख्या तीन गुनी हो गई है। शनिवार को प्रदेश में 3290 नए कोरोना पॉजिटिव मिले। होली से पहले 26 मार्च को 1032 मरीज मिले थे। दो अप्रैल को 2967 मरीज मिले थे। 3 अप्रैल को आंकड़ा तीन हजार को पार कर गया।

प्रदेश में इससे पहले तीन हजार से अधिक मरीज पिछले साल 7 अक्तूबर को मिले थे तब संक्रमण उतार पर था। संक्रमण काबू में आने के करीब छह माह बाद फिर से मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। वहीं, लखनऊ में भी आंकड़ा एक हजार के पार पहुंच गया। यहां शनिवार को बीते 24 घंटे में 1041 नए संक्रमित मिले। प्रदेश में 14 मरीजों की मौत हुई। इनमें छह राजधानी के हैं। लखनऊ में एक्टिव 5,408 हैं।

नए मरीजों के बढ़ने के साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या भी बढ़ी
अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि शुक्रवार को 1,66,110 नमूनों की जांच की गई। इनमें से 76 हजार नमूने आरटीपीसीआर से जांचे गए हैं। प्रदेश में अब तक 3,52,36,205 नमूनों की जांच हो चुकी है। नए मरीजों के बढ़ने के साथ ही एक्टिव मरीजों की संख्या भी 16496 हो गई है।

आठ से 23 अप्रैल तक फोकस टीकाकरण
उत्तर प्रदेश में विभिन्न व्यवसाय के लोगों के लिए आठ से 23 अप्रैल से फोकस टीकाकरण अभियान चलेगा। इसमें शिक्षक, वकील, बैंक, प्राइवेट कर्मचारी, व्यापारी, ड्राइवर को टीका लगाया जाएगा। इन व्यवसाय से जुड़े 45 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए यह व्यवस्था की गई है। सभी जिलों को इसके निर्देश जारी कर दिए गए हैं। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि टीकाकरण केंद्रों पर इन्हें प्राथमिकता दी जाएगी। हालांकि सामान्य टीकाकरण भी जारी रहेगा।

कब-किस समूह का टीकाकरण
8 व 9 अप्रैल : मीडियाकर्मी, विभिन्न प्रतिष्ठानों के संचालक, दुकानदार, व्यवसायी।
10 अप्रैल : बैंक और इंश्योरेंस कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी।

12, 13, 14 अप्रैल : स्कूल और कॉलेजों के 45 वर्ष से अधिक उम्र के शिक्षक।
15 व 16 अप्रैल : ऑटो रिक्शा चालक, रिक्शा चालक, रेहड़ी पटरी दुकानदार।

17 और 19 अप्रैल : सरकारी कार्यालयों के अफसर व कर्मचारी।
20 और 21 अप्रैल : अधिवक्ता, न्यायपालिका के अधिकारी व कर्मचारी।
22 और 23 अप्रैल : निजी प्रतिष्ठान, निजी कार्यालयों के लोगों को टीकाकरण करवाने का विशेष मौका दिया जाएगा।

प्रदेश में सर्वाधिक मिले संक्रमित
प्रयागराज — 299
वाराणसी — 226
कानपुर नगर — 171
गोरखपुर — 92
बरेली — 71

गौतमबुद्ध नगर — 70
आगरा — 67
मेरठ — 64
गाजियाबाद — 55
मथुरा — 51
मुजफ्फर नगर — 47

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *