मध्य प्रदेश राज्य

भोपाल में कोरोना से लोगों का बुरा हाल : एम्स भोपाल के 24 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सारे रिकॉर्ड टूट चुके हैं। प्रदेश में कोरोना का फैलाव तेजी से बढ़ रहा है। राजधानी भोपाल में कोरोना से लोगों का बुरा हाल है। एम्स भोपाल के 24 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। शुक्रवार को 184 लोगों में से 102 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिनमें 24 डॉक्टर भी शामिल हैं। इस खबर के बाद प्रदेश में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि डॉक्टरों का कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक इलाज किया जा रहा है। पिछले 24 घंटे में 4882 नए मरीज मिले हैं। जबकि अभी तक 4136 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसमें 8 अप्रैल को दर्ज 23 मौतें भी शामिल हैं। वहीं प्रदेश में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 30,486 तक पहुंच गया है।

कई जिलों में संपूर्ण लॉकडाउन
गौरतलब है कि शुक्रवार शाम 6 बजे से मध्य प्रदेश के सभी शहरी क्षेत्रों में साप्ताहिक लॉकडाउन लागू हो जाएगा। यह लॉकडाउन सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगा। हालांकि रतलाम जिले में नौ दिन और छिंदवाड़ा खरगोन, कटनी और बैतूल में सात दिन तक की पूर्ण बंदी की गई है। भोपाल के कोलार में भी शुक्रवार से नौ दिन के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है।

31 शवों का अंतिम संस्कार
भोपाल में कोरोना से 8 महीने की बच्ची की भी मौत हो गई। कोरोना संक्रमित मिलने के बाद आठ महीने की अदीबा पिछले 12 दिन से एम्स भोपाल में भर्ती थी। लेकिन गुरुवार को वह जिंदगी की जंग हार गई। भोपाल में गुरुवार को एक दिन में 31 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। गुरुवार को भदभदा विश्राम घाट पर 36 शव अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे। इसमें कोरोना संक्रमित 31 शवों का प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार किया गया।

इंदौर बना हॉटस्पॉट
बता दें कि मध्य प्रदेश का इंदौर शहर सबसे ज्यादा प्रभावित है। इंदौर में 24 घंटे के भीतर सबसे ज्यादा मामले आए हैं। 887 केस दर्ज किए गए हैं। यहां पर हर रोज मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जिला प्रशासन रोक लगाने के लिए कई कदम उठाए हैं, लेकिन कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *