उत्तर प्रदेश राज्य

याचना में ‘डूब मरो-डूब मरो’ की गूंज सुनाई पड़ रही है : केंद्रीय मंत्री वी के सिंह कोरोना पॉज़ेटिव भाई को बेड दिलाने के लिये गुहार लगाते हुए!

देश में कोरोना अब काबू से बाहर है, सरकारों ने जनता को उस के हाल पर छोड़ दिया है, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, बीजेपी अध्यक्ष और मोदी की सरकार बंगाल जीतने के लिए रैलियां, जन सभायें करने में व्यस्त है, महात्मा/साधू सन्यासी गंगा नहा कर पुण्य कमा रहे हैं, रही ग़रीब जनता तो वो भगवान् भरोसे छोड़ दी गयी है

BHARDWAJ पी

@Parvesh65632017

बिग बिग बिग ब्रेकिंग
सुरत-ए-हाल उत्तर प्रदेश केंद्रीय मंत्री वी के सिंह कोरोना पॉजिटिव अपने भाई के लिये बेड के लिये धक्के खा गुहार लगाते हुए
आम ओर गरीब आदमी की दुर्दशा का इसी से अंदाजा लगाया जा सकता हे!

KARAN THAPAR DESI
@DesiStupides
इस बार हमें अंग्रेजों से नहीं लड़ना है। हमारी लड़ाई अपने ही लोगों से है। मोदी भक्त बिल्कुल वैसे ही गुमराह किये गये हैं जैसे कोई आंतकी संगठन भटके हुए नौजवानों को करता है।

Om Thanvi
@omthanvi
केंद्रीय मंत्री और देश के पूर्व सेनाध्यक्ष को किसी भाई को अस्पताल में खाट दिलवाने के लिए अपने ही चुनावी हलक़े के डीएम से सार्वजनिक याचना करनी पड़ रही है? इस याचना में पता नहीं क्यों ‘डूब मरो डूब मरो’ की गूंज सुनाई पड़ रही है। इसे आप यूपी पर समझें, चाहें जनरल की अपनी सरकार पर।

Aditya Raj Kaul
@AdityaRajKaul
Imagine the level of crisis we are in when a Union Minister and a Member of Parliament from Ghaziabad has to appeal via Twitter for a bed for his #COVID19 positive brother to DM in his own district. Wishing speedy recovery to him! Hope he gets bed and medical help immediately.

Vijay Kumar Singh
@Gen_VKSingh
@dm_ghaziabad
Please check this out
प्लीज़ हमारी हेल्प करे मेरे भाई को कोरोना ईलाज के लिए बेड की आवश्यकता है।अभी गाजियाबाद में बेड की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। @shalabhmani @PankajSinghBJP @Gen_VKSingh

News18 Bihar
@News18Bihar
पटना के किसी अस्पताल में एक भी बेड खाली नहीं
PMCH में 110 बेड, एक भी खाली नहीं
NMCH में 160 बेड, एक भी खाली नहीं
AIIMS में 200 बेड, एक भी खाली नहीं
पारस में 30 बेड, एक भी खाली नहीं
बिग अपोलो में 27 बेड, एक भी खाली नहीं
रूबन में 154 बेड, एक भी खाली नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *