देश

मै कभी हारा नहीं, सांसों ने हरा दिया,,,अलविदा ‘शरे-ए-सीवान’ : मुहम्मद शहाबुद्दीन को दिल्ली में दफ़नाया गया : वीडियो

 

ज़मीं खा गयी आसमां कैसे कैसे, दुनियां को अल्लाह ने बड़े तवाज़ुन से बनाया है, यहाँ जो भी कुछ है उसके होने का कोई कारण/मतलब है, अल्लाह ने इंसान पैदा किये और साथ ही पैदा किया ‘ईमान’, जब किसी इंसान के पास ईमान की दौलत होती है तब वो बेमिसाल बन जाता है, ईमान की ताकात, इंसान के जिस्म की ताकात से बहुत ज़यादा होती है, शायद हज़ारों, लाखों गुना, ईमान वाला इंसान निडर, बहादुर होता है, वो जो कुछ करता है अपने अल्लाह को राज़ी करने के लिए करता है, यही वजह है कि ज़माना कोई भी रहा हो फ़तेह हमेशा ईमान वालों है

शहाबुद्दीन, ये नाम भारत के लोगों के लिए अनजाना नहीं है, बहुत लोग इस नाम से वाकिफ हैं, शहाबुद्दीन बिहार की राजनीती की धुरी हुआ करते थे, लालू यादव की पार्टी के नेता थे, विधायक, सांसद बने, जब भी चुकाव लडे हमेशा जीते, सरकारी रिकॉर्ड में वो बड़े अपराधी थे, जनता की नज़र में हीरो थे, उनका रुतबा कमाल का था, एक समय था जब बंगाल से अमृतसर तक ‘भाई’ लोगों की तूती बोलती थी, जो कह दिया वो पत्थर की लकीर था, शहाबुद्दीन, तलसीमुद्दीन, मुख़्तार अंसारी, अतीक अहमद एक लाईन के लोग थे, इनका अपना आपस में मज़बूत गठजोड़ था, एक जो कह देता बाकी मानते थे, शहाबुद्दीन राजनीती के कारण बहुत लोगों की नज़रों में खटकते थे, अब वो नहीं रहे शायद दुश्मनों को कुछ ठंडक मिल जाये

पटना: बिहार के बाहुबली नेता और आरजेडी के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन का बीते शनिवार को दिल्ली के डीडीयू अस्पताल में निधन हो गया. आरजेडी नेता को कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनका निधन हो गया. शाहबुद्दीन के निधन के बाद जहां आरजेडी के नेता दुखी हैं, वहीं, सत्ताधारी दल के नेता सिवान के पूर्व सांसद की मौत के बाद सरकार से जांच की मांग कर रहे हैं.

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, ” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी, गृह मंत्री अमित शाह जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से आग्रह है कि सिवान के पूर्व सांसद सैयद शहाबुद्दीन मरहूम के निधन की न्यायिक जांच और उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाए.”

Jitan Ram Manjhi
@jitanrmanjhi
माननीय प्रधानमंत्री.@narendramodi जी,गृह मंत्री @AmitShah जी,दिल्ली के मुख्यमंत्री @ArvindKejriwal जी,मा.मुख्यमंत्री @NitishKumar जी से आग्रह है कि सीवान के पुर्व सांसद सैयद शहाबुद्दीन मरहूम के निधन की न्यायिक जाँच एवं उनका अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाए।

इससे पहले पूर्व सांसद के निधन पर शोक जताते हुए उन्होंने ट्वीट कर कहा था, ” बिहार के कद्दावर नेता पूर्व सांसद सैयद शहाबुद्दीन का इलाज के दौरान कोरोना से हुई असामयिक निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त करता हूं. ईश्वर शोकाकुल परिजनों को दु:ख सहने की शक्ति और दिवंगत आत्मा को चिर शांति प्रदान करें.”

वहीं, हम नेता और प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा, ” हमारी पार्टी का शुरू से मानना है कि शहाबुद्दीन साहब की मौत के पीछे कुछ राज है, जिसे छिपाया जा रहा है. इसलिए हमारी पार्टी के नेता ने पूर्व सांसद के निधन मामले की जांच की मांग की है. साथ ही शहाबुद्दीन साहब सिवान के सांसद रहे हैं, इस वजह से उनका संस्कार राजकीय तरीके से होना चाहिए.”

मालूम हो कि इससे पहले भी दानिश रिजवान भी मोहम्मद शहाबुद्दीन के निधन पर सरकार को घेर चुके हैं. शानिवार को पूर्व सांसद के निधन के बाद उन्होंने बयान जारी कर कहा था, ” शहाबुद्दीन साहब की मौत के लिए सरकार ज़िम्मेदार है. अगर उनका ठीक से इलाज हुआ होता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी, उनके परिवार के साथ जुल्म हुआ है. मुस्लिम समाज ये कभी नहीं भूलेगा.

#JusticeForShahabuddin

Pappu Yadav
@pappuyadavjapl
दुःखद! हर किसी को अपनी मिट्टी में अपनों के बीच दफन होने का हक तो बनता है।

शहाबुद्दीन जी से आप इत्तेफाक न रखते हों, लेकिन उनको उनकी मिट्टी में अंतिम संस्कार के हक से महरूम कर क्या हासिल किया हुक्मरानों?

Abu Asim Azmi
@abuasimazmi
रोहित सरदाना की डेड बॉडी उनके शहर को दी जा सकती है मगर बिहार के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की डेड बॉडी उनके परिवार को नहीं?
#JusticeForShahbuddin

Imran Pratapgarhi
हम आतिशे सोज़ां में भी हक़ बात कहेंगे,
कुंदन की तरह दहर में ताबिंदा रहेंगे !
तारीख़ बताती है कि हर दौर-ए-सितम में,
हम ज़िन्दा थे,हम ज़िन्दा हैं,हम ज़िन्दा रहेंगे !
~अज्ञात

अलविदा मरहूम शहाबुद्दीन


𝐃𝐫. हामिद 2.0Palm tree
@RoflHamidMIM
अगर देश संविधान पर चलता है तो हुकूमत मरहूम शहाबुद्दीन साहब के मैय्यत को उनके घर वालो को क्यू नही दे रही ?
जबकि संविधान के अनुच्छेद 21 इसका इजाजत देता है, कही मौत का राज न खुल जाए इसका डर तो नही ..?

RJD Siwan
@Siwan_Rjd
मरहूम शहाबुद्दीन साहब के इलाज़ से लेकर अबतक राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय लालु यादव जी स्वयं लगातार उनके परिजनों के सम्पर्क में रहे हैं और पार्टी हरसंभव मदद करती आयी है।क़ानूनी प्रक्रिया से लेकर सरकार तक उनके जनाज़े की नमाज़ उनके आबाई वतन में हो इसके लिए भी तमाम कोशिशें की गयीं।

Syed Ruknuddin Ahmad – MLA
@Syed_Ruknuddin5
मरहूम शहाबुद्दीन साहब के घर वाले उनकी तद्फीन प्रतापपुर सिवान में करना चाहते है,
बिहार के मुसलमान और देश के मुस्लमान भी यही चाहते है की एक शेर की तद्फीन शेर की तरह हो,
@HMOIndia
को चाहिए ज़रूरी इन्तेज़ामात के साथ उनके परिवार को तद्फीन की इजाज़त दे,

Ashraf Hussain
@AshrafFem
शहाबुद्दीन साहब के शहज़ादे की ये तस्वीर बहुत कुछ बयां कर रही है, शायद वो थक चुका है लेकिन हारा नहीं है, उसे अपने पिता की तदफीन अपने घर पर करनी है, लेकिन इसकी इजाज़त नहीं मिल रही,
@yadavtejashwi
इस मुश्किल घड़ी में आप और आपकी पार्टी को मजबूती के साथ इनके साथ खड़े होने की जरूरत है।

काकावाणी (Ali Sohrab)
@007QaQa
मरहूम को सुपर्द ए खाक कर दिया गया, अल्लाह शहाबुद्दीन साहब को जन्नत उल फिरदौस में जगह दे, ओसामा शहाब को हिम्मत व हौसला दे…
#ShahabuddinSaheb

ABDULLAH
@jameelurRehman0
तमाम कोशिशों के बाद भी दिल्ली पुलिस नें कोरोना नियमों का हवाला देकर पूर्व सांसद मरहूम शहाबुद्दीन साहब की मय्यत सिवान ले जाने नहीं दी।
ITO कब्रिस्तान में जनाजे की नमाज़ हो गयी…
दुआ की गुजारिश है…

𝕊𝕙𝕚𝕖𝕜𝕙 توصيف रज़ा
@sk_traza98
When Delhi High Court had directed the AAP government and prison authorities to ensure proper medical supervision and care of Shahabuddin.

So how did DDU Hospital take care that Sahabuddin Sahab was killed?

And yet the dead body has not been Buried

Musleuddin Heart with ribbon100% follow back
@Musleuddin17
When former MP Mohammad Shahabuddin’s corona report was negative, how could corona die? Why was there so much negligence in his treatment? In the whole episode, clearly the murder of the conspiracy can be seen.Shahabuddin case should be investigated by CBI.#JusticeForShahabuddin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *