दुनिया

इराक़ी प्रधानमंत्री की देश से अमरीकी सैनिकों को बाहर निकाले जाने की मांग

इराक़ी प्रधान मंत्री मुस्तफ़ा अल-काज़ेमी ने अपनी आगामी वाशिंगटन यात्रा का उद्देश्य, अमरीका के साथ इराक़ के संबंधों को विनियमित करना और इस अरब देश से विदेशी सैनिकों की वापसी पर ज़ोर देना बताया है।

रविवार को सऊदी अरब के टीवी चैनल अल-हदस से बात करते हुए अल-काज़ेमी ने कहा कि इराक़ी सरज़मीन पर विदेशी सैनिकों की कोई ज़रूरत नहीं है।

उन्होंने कहा कि वह इजाज़त नहीं देंगे कि उनके देश को पड़ोसियों को धमकाने के लिए इस्तेमाल किया जाए।

इराक़ी प्रधान मंत्री अगले हफ़्ते वाशिंगटन की यात्रा पर जाने वाले हैं, ताकि इराक़ से अमरीकी सैनिकों को बाहर निकालने के लिए समयसीमा के निर्धारण पर बात कर सकें।

गुरुवार को अल-काज़ेमी और अमरीकी दूत ब्रेट मैक-गुर्क ने बग़दाद में इस संबंध में विचार विमर्श किया था।

शुक्रवार को व्हाइट हाउन ने कहा था कि अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन 26 जुलाई को अल-काज़ेमी से मुलाक़ात करेंगे, ताकि अमरीका और इराक़ के बीच रणनीतिक सहयोग पर बातचीत कर सकें।

इस बीच, इराक़ी स्वयं सेवी बलों के संगठन हशदुश्शाबी ने स्पष्ट कर दिया है कि देश में विदेशी सैनिकों को सुरक्षा का अहसास नहीं करने देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *