विशेष

#आज तक की पत्रकार ”चित्रा त्रिपाठी” को तालिबान के पत्रकार ने कहा, ‘आप का लहजा बदमाश जैसा है, हमने पंजशीर फ़तेह किया है कश्मीर नहीं : वीडियो

भारत की सरकार हमेशा कहती रही है कि किसी अन्य देश के अंदरूनी मामलों में दखल नहीं देती है, जबकि भारत के प्रधानमंत्री, विपक्ष के नेता कहते हैं कि हमने पाकिस्तान के टुकड़े किये और बांग्लादेश बनवाया, भारत ने अपनी देना श्रीलंका भेजी थी जिसके बाद लिट्टे के आतंकवादियों ने भारत का विरोध किया था, लिट्टे को भारत के कई राज्यों की सरकारों का समर्थन प्राप्त था, उनके लिए सर्वजेनिक रूप से चंदा जमा करने का इंतिज़ाम किया जाता था, जन सभाओं में नेता लिट्टे के पक्ष में भाषण देते थे

लम्बे वक़्त से दुनियांभर के देश अपनी जनता से झूठ बोलने का काम करते रहे हैं भारत अकेला नहीं है, अमेरिका ने जापान पर हमला करने के लिए पर्ल हार्बर खुद हमला किया, बाद में जापान पर एटमबम से हमले किये, 11 सितम्बर को अमेरिका में आतंकवादी हमले हुए जिसका बहाना बना कर अमेरिका ने अफ़ग़ानिस्तान पर आतंकी देशों को साथ लेकर हमला कर दिया था, इसी तरह से अमेरिका ने सद्दाम हुसैन के पास खतरनाक हथियारों के होने के आरोप लगा कर हमला किया जिसकी आग में आज तक इराक जल रहा है

तालिबान ने किसी एक भी देश के ख़िलाफ़ कोई आतंकवादी कार्यवाही कभी नहीं की है, वो अपने देश में अमेरिकी कब्ज़े के खिलाफ जंग लड़े थे, अमेरिका और हिमायतियों को वहां से मुंह की खा कर फ़रार होना पड़ा है, तालिबान वापस सत्ता में आ गए हैं लेकिन अनेक शक्तियों को तालिबान का हुकूमत में आना हज़म नहीं हो रहा है

ये बिलकुल ज़रूरी नहीं कि जो कुछ अमेरिका, इस्राईल और यूरोप के देश कहें उन्हें सत्य मान लिया जाये, ये देश हमेशा षड्यंत्रों के सहारे अन्य देशों के खिलाफ कार्यवाही करते हैं, भारत के मीडिया का एक वर्ग पूरी तरह से षड्यंत्रकारी कार्यों में लगा हुआ है, ये मीडिया कभी बाबरी मस्जिद के खिलाफ काम करता था, यही मीडिया है जो मुसलमानों से डिबेट में जय श्रीराम के नारे लगाने का दबाव बनाती थी, मुसलमानों को आतंकवादी बताने का काम करता रहा है,

भारतीय मीडिया पर तालिबान के आधकारिक रिपोर्टर का इंटरव्यूज लिया गया जिसमे उसने भारतीय पत्रकार को ज़लील कर दिया, भारतीय पत्रकार को ज़रा भी अंदाज़ा नहीं था कि ये अफ़ग़ानी मुस्लमान है भारतीय नहीं

देखें वीडियो
===========


Tariq Ghazniwal
@TGhazniwal
2/5 په دې کتنه کې د رییس الوزرا مرستیال مولوي عبدالسلام حنفي، شيخ الحدیث مولوي عبدالحکیم حقاني د بهرنیو چارو وزارت سرپرست مولوي امیرخان متقي، د دفاع وزارت سرپرست مولوي محمد یعقوب مجاهد، د کورنیو چارووزارت سرپرست خليفه صاحب ملا سراج الدین حقاني،

Tariq Ghazniwal
@TGhazniwal
2/5 په دې کتنه کې د رییس الوزرا مرستیال مولوي عبدالسلام حنفي، شيخ الحدیث مولوي عبدالحکیم حقاني د بهرنیو چارو وزارت سرپرست مولوي امیرخان متقي، د دفاع وزارت سرپرست مولوي محمد یعقوب مجاهد، د کورنیو چارووزارت سرپرست خليفه صاحب ملا سراج الدین حقاني،


Khalil Noori
@KhalilNoori

Taliban lunch in the presidential palace in #Kabul, prime minister receives the same menu.

Hansraj Meena
@HansrajMeena
8h
And indian media is busy in highlighting taliban #मोदी_है_तो_बर्बादी_है

Chris Alexander
@calxandr
9/11 didn’t change the world.

It brought tragedy to Iraq (2003+) & Syria (2011+).

It took Afghanistan full circle — from one Taliban nightmare to another.

Pakistan’s impunity in sponsoring terrorists still goes unchallenged.

The real change lies ahead.


Brahma Chellaney
@Chellaney
Taliban’s final stick in the eye to the US? On the 20th anniversary of 9/11, the Taliban hoisted their flag over the Afghan presidential palace and launched their new regime in a brief ceremony. This provocation occurred despite the Biden administration’s outreach to the Taliban.

Aarti Tikoo
@AartiTikoo
20 years of 9/11. US, the biggest superpower defeated. alQaeda alive & its brother Taliban back in power. Islamist radicalism widespread. China now King of the world. All because the US followed Pak Army’s (Daddy of all jihadis) advice. A fine history lesson on how empires fall.

Mayank Jindal
@MJ_007Club
#Breaking: India refuses to recognise the Taliban Govt in Afghanistan.

External Affairs Minister S Jaishankar made it clear that he considers Taliban as a dispensation.


Sanyia Baloch
@BalochSanyia

#BanIndianJournalists
Some Indians posted a picture of a crashed F-16 aircraft and claimed that it’s a PAF jet shot down in the Pnajshir Valley by the anti-Taliban forces. However, it turned out to be an old picture of a US airforce aircraft taken in 2018.

PNews360.com
@pnews360

Tajikistan’s highest government-backed religious authority has called the Taliban’s actions in Afghanistan un-Islamic

The Tajik government continues to oppose Taliban. Tajikistan supports the Panjshir militia

Asia Free Press (AFP)
@AsiaFreePress

BREAKING: Qatar Foreign Minister arrived in Kabul, he is the first top diplomat of any country visiting Afghanistan after Taliban formed government in Kabul

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *