विशेष

कुछ नहीं तो गुजरात का सीएम ही बना दो : #RSS #अमितशाह को सपोर्ट कर रहा है और शाह के ज़रिए, अपनी मंशा पूरी कर रहा!

पाकिस्तान ने कहा, अफ़गान को अलग-थलग करने के होंगे गंभीर नतीजे

इस्लामाबाद, प्रेट्र। संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधितों की सूची में शामिल सदस्यों से भरी अफगानिस्तान की तालिबान सरकार को लेकर दुनिया भर में उठ रहे सवालों के बीच पाकिस्तान ने सिर्फ उसका बचाव किया है, बल्कि विश्व बिरादरी को परोक्ष धमकी तक दे डाली है। पाकिस्तान के शीर्ष सदस्यों ने तालिबान सरकार की जमकर पैरोकारी की है। वहीं, संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान के राजदूत ने अंतरराष्ट्रीय संस्था से तालिबान सरकार को मान्यता नहीं देने की अपील की है।

स्पेन के विदेश मंत्री जोस मैनुअल अल्बेरेस के साथ अफगानिस्तान के ताजा हालात पर चर्चा करने के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरेशी ने कहा कि क्षेत्र और दुनिया के लिए अफगानिस्तान को अलग-थलग करने के नतीजे गंभीर होंगे। उन्होंने कहा कि डराने-धमकाने, दबाव बनाने और जबरदस्ती करने की नीति काम नहीं आई। अल्बेरेस के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में कुरेशी ने कहा कि अफगानिस्तान को लेकर दुनिया को नए और सकारात्मक नजरिये से सोचने की जरूरत है। उन्होंने अफगानिस्तान की अर्थव्यवस्था को ध्वस्त होने से बचाने के लिए भी दुनिया से मदद की अपील की।

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने भी कहा कि अफगानिस्तान में स्थायी शांति और स्थिरता लाने के लिए विश्व समुदाय को मानवीय सहायता मुहैया कराने के साथ ही रचनात्मक तरीके से उससे जुड़ना चाहिए। रावलपिंडी में सेना के कोर कमांडरों के सम्मेलन में बाजवा ने कहा कि क्षेत्रीय समृद्धि और शांति के लिए भी सभी क्षेत्रीय हितधारकों के बीच सहयोग जरूरी है।

इन दोनों नेताओं की पैरोकारी से उलट संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान के राजदूत गुलाम इसकजई ने वैश्विक संस्था से कहा कि निर्वाचित सरकार को अपदस्थ कर बनाई गई अंतरिम तालिबान सरकार को उसे मान्यता नहीं देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को भी प्रतिबंधित तालिबान नेताओं को यात्रा पाबंदियों में दी गई छूट की दोबारा समीक्षा करनी चाहिए क्योंकि वे शांतिपूर्ण तरीके से संघर्ष को सुलझाने में विफल रहे हैं।

सुरक्षा परिषद की बैठक में इसकजई ने कहा कि हमारे सामने प्रत्यक्ष प्रमाण हैं कि किस तरह से तालिबान अफगानिस्तान में ज्यादती और मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रहा है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र से तत्काल तालिबान के अत्याचारों का पता लगाने के लिए एक टीम अफगानिस्तान भेजने का आग्रह किया।

ज्ञानेंद्र दीक्षित (मुखिया जी )
@INCMUKHIYAJI1
कुछ नहीं तो गुजरात का सीएम ही बना दो 

विजय रूपानी ने स्तीफा दे दिया है

ikash Sharma (विकास पागल हो गया
@V00151

एक अंड भक्त बोला हम कांग्रेस को
उखाड़ देंगे
मैंने बोला मै और हम
तुम्हारे पिछवाड़े मे भी कांग्रेस के झंडे गाड़ देंगे

Rohini Singh
@rohini_sgh
As usual, it was
@LangaMahesh
who broke the news of yet another big development- a CM change- in Gujarat. Follow Mahesh for all the accurate information from the powerful state of Gujarat

Be the Change
@nandtara

Gujarat CM #VijayRupani resigns. He’s the 4th ⁦
@BJP4India
⁩ CM to step down after Yediyurappa & the duo in Uttarakhand, who went in quick succession. Ofcourse media will play down trouble in the Modi-Shah abyss cause quizzing Judwas is off limits


Indian Boy Inc
@indianboy__Inc

क्या काेई एक जुमलेबाज झुठे आदमी पर जनता की मेहनत का पैसा वाे भी 5749 कराेड उडा सकता है उस नेता के प्रचार पर?…

क्या जाइज हैं?

अगर एेसा खर्च बेकार नेताओ पर जनता की मेहनत का पैसा उडाते रहे ताे चाहे कितने भी साल बीत जाए कभी देश की गरिब और अर्थव्यवस्था नही सुधर सकती!..


WakeUpIndia
@SameerMandaoga1

-देश सबसे ज्यादा कर्ज में डुबा 163 लाख करोड़
-17 करोड़ जनता वापस गरीबी रेखा में चली गयी
-47%जनता गरीब और 3 गुजराती मित्र 5 गुना अमीर हो गए
-दुनिया का सबसे भ्रष्ट देश बना भारत
-RBI से सबसे ज्यादा पैसा निकाला
-देश की संपत्ति की बिकवाली

Ruby Arun रूबी अरुण
@arunruby08·
स्पष्ट हो चुका है की
#RSS #अमितशाह को कंप्लीट सपोर्ट कर रहा है और शाह के जरिए, अपनी मंशा पूरी कर रहा.पहले #मोदीजी की इच्छा के विरुद्ध जाकर #योगी का त्यागपत्र ना लेना.और अब मोदी जी के प्रिय #विजयरूपाणी का इस्तीफा ले लेना.
#Karnataka का सीएम नहीं बन पाये तो #BLSantosh बदला ले रहे

Abha آبھا
@I_am_Abha66
तुम चाहे गाय को अपनी मां घोषित करो और सांड को अपना बाप हमें क्या मतलब ?
लेकिन तुम्हारे आवारा मां बाप हमारे खेतों में नहीं आने चाहीए।

डिस्क्लेमर : twitts में व्यक्त किए गए विचार, जानकारियां लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक/व्हाट्सप्प पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *