विशेष

चीन और तुर्की अफ़ग़ानिस्तान को ड्रोन विमान देने जा रहे हैं : तालिबान से वो देश परेशान हैं जो अफ़ग़ानिस्तान में रह कर आतंकवाद को बढ़ावा देते रहे!

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने आज कल मौजूद राष्ट्रपति बाइडेन के खिलाफ सड़कों पर लोगों को जमा करना शुरू कर दिया है, अमेरिका के अंदर बाइडेन के खिलाफ लोगों का गुस्सा सातवें आसमान पर है, ट्रम्प के खिलाफ मीडिया में बहुत लिखा, कहा गया लेकिन वो आदमी एक ईमानदार और बहादुर आदमी था जोकि अमेरिकी इस्टैब्लिशमेंट के खिलाफ गया और किसी भी नयी जंग को शुरू नहीं किया बल्कि जो जंगें अमेरिका दूसरे देशों में लड़ रहा था उसने उन्हें ख़त्म करने का काम किया, ट्रम्प के ही समय में अफ़ग़ानिस्तान से अमेरिकी सेना को निकालने का एलान हुआ था, ट्रम्प ने ही तालिबान के साथ दोहा शांति समझौता किया था

अफ़ग़ानिस्तान अब आज़ाद हो चुका है, तालिबान ने अपनी काम चलाऊ सरकार का गठन कर लिया है, दुनियांभर के फासिस्ट, आतंकवाद के प्रयोजक देश तालिबान के खिलाफ सीधे-सीधे, मीडिया व् सोशल मीडिया में मोर्चा खोले हुए हैं, तालिबान के अफ़ग़ानिस्तान में आने से वो देश परेशान हैं जो अब तक वहां रह कर आतंकवाद को बढ़ावा देते रहे, दूसरे देशों में आतंकवादी कार्यवाहियां करते रहे, ISIS, ब्लैक वॉटर जैसे आतंकवादी संगठनों की भर्ती करने का काम करते रहे

अफ़ग़ानिस्तान इस समय संकट से गुज़र रहा है, जानकारी के मुताबिक 50 फ़ीसद अफ़ग़ान जनता के पास खाने का कोई बंदोबस्त नहीं है, उन्हें जब कहीं से कुछ मिल जाता है या कोई दे देता है तो खा लेते हैं, अफ़ग़ानों की इस दुरदशा के लिए आतंकवादी देश ज़िम्मेदार हैं, चीन ने तालिबान की हुकूमत को खुल कर मदद देना शुरू कर दिया है, जानकारी के मुताबिक चीन और तुर्की अफ़ग़ानिस्तान को ड्रोन विमान देने जा रहे हैं, यही नहीं चीन तालिबान की सेना को हवाई जहाज़ उड़ाने का प्रशिक्षण भी देगा, चीन ने मानवीय आधार पर अफ़ग़ान जनता के लिए खाने का सामना भेजने का एलान किया है, पाकिस्तान ने भी अफ़ग़ान जनता के लिए तीन हवाई जहाज़ों के ज़रिये खाद्य सामिग्री भेजी है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *