देश

कैप्टन अमरिंदर सिंह की पाकिस्तानी ISI वाली गर्लफ्रेंड्!

पंजाब कांग्रेस में गृहमंत्री रंधावा ने अरूसा आलम के आईएसआई से संबंधों की जांच के आदेश शुक्रवार को जारी कर दिए हैं। इससे भड़के कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गृहमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा को एक के बाद एक ट्वीट के जरिए आड़े हाथों लिया। उन्होंने रंधावा की कार्यप्रणाली पर भी सवाल उठाते हुए कहा, सूबे के पुलिस महानिदेशक को एक ऐसे मामले की जांच में लगा दिया है, जिसका कोई आधार ही नहीं है।


कैप्टन ने शुक्रवार को अपने पहले ट्वीट में रंधावा से पूछा कि ‘आप मेरी कैबिनेट में मंत्री थे। आपने कभी अरूसा आलम के बारे में शिकायत नहीं सुनी। वह 16 साल से भारत सरकार की मंजूरी के बाद ही भारत आ रही थीं। अब आप यह आरोप लगा रहे हैं कि इस अवधि में एनडीए और यूपीए दोनों सरकारों ने पाक आईएसआई के साथ मिलीभगत की थी?

दूसरे ट्वीट में कैप्टन ने लिखा- ऐसे समय में जब आतंकवाद का खतरा है और त्योहार नजदीक हैं, राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय आपने डीजीपी को एक आधारहीन जांच पर लगा दिया है।

तीसरे ट्वीट में रंधावा को लिखा- ‘तो अब आप निजी हमले कर रहे हैं। यह पद संभालने के एक माह बाद क्या अब आप लोगों को अपनी यह उपलब्धि दिखाएंगे? बरगाड़ी और ड्रग्स के मामले में आपके लंबे वादों का क्या हुआ? पंजाब अब भी आपके वादे के मुताबिक कार्रवाई का इंतजार कर रहा है।

विवाद की वजह: कैप्टन की महिला मित्र के खिलाफ जांच के आदेश
पंजाब सरकार ने शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ अरूसा आलम के संबंधों और आईएसआई के साथ अरूसा के संबंधों की जांच के आदेश विधिवत रूप से जारी कर दिए। उप मुख्यमंत्री और गृहमंत्री सुखजिंदर रंधावा ने वीरवार को जालंधर में यह एलान किया था कि सरकार अरूसा आलम के आईएसआई लिंक की जांच करेगी।

रंधावा का कहना है कि कैप्टन चार-पांच साल से पाकिस्तान से आने वाले ड्रोन का मुद्दा उठाते रहे हैं और बार-बार कहते रहे हैं कि राज्य को आईएसआई से खतरा है। इसलिए हम उनकी पाकिस्तानी महिला मित्र के आईएसआई के संबंधों की जांच भी करेंगे। कैप्टन किस आधार पर आईएसआई के खतरे की बात करते रहे हैं। उनके पास इस संबंध में क्या जानकारी है?

इस बीच, सियासी हलकों में प्रदेश सरकार की ओर से अपनी ही पार्टी के पूर्व मुख्यमंत्री व उनकी मित्र के खिलाफ जांच शुरू होने को दोनों पक्षों के लिए हानिकारक माना जा रहा है, क्योंकि आगामी विधानसभा चुनाव में दोनों पक्षों के परस्पर उलझे रहने से अन्य दलों को लाभ पहुंच सकता है।

Prashant Tandon
@PrashantTandy
उलझेगा ये मामला. कुछ महीने पहले एक गोली कांड भी हुआ है पाकिस्तान में. हामिद मीर का वीडियो वायरल है वहां. किसने किस पर क्यों गोली चलाई उसकी एक कहानी है Grinning face
अक्लीम अख्तर जिन्हे पाकिस्तान में ‘जनरल रानी’ कहा जाता है वो जनरल यहिया खां की ‘दोस्त’ थीं.
अरूसा आलम उन्ही की बेटी हैं.

PANKAJ CHATURVEDI
@PC70001010
पँजाब सरकार कैप्टन अमरिंदर सिंह की पंजाबी गर्लफ्रेंड्स की जांच करवाने जा रही है।डिप्टी CM और गृह मंत्री सुखजिंदर रंधावा ने कहा कि अरूसा आलम के ISI कनेक्शन की जांच के लिए DGP इकबालप्रीत सहोता को निर्देश दिए है।जिसमे कुछ बैंक खातों की भी जांच होगी।


UP Election 2022
@uppolitics2022
पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर रंधावा ने कहा कि उनकी सरकार कैप्टन अमरिंदर सिंह की पाकिस्तानी दोस्त अरूसा आलम की आईएसआई से लिंक की जांच करेगी। अरूसा पाकिस्तान की डिफेंस जर्नलिस्ट हैं।

Manasi
@Manasi71

कैप्टन की पाक महिला मित्र पर मचा बवाल,
सुखजिंदर सिंह रंधावा (Deputy CM) ने कहा-ISI कनेक्शन की जांच होगी, कैप्टन अमरिंदर सिंह को बार-बार आगाह करने के बावजूद उनकी पाक महिला मित्र आरुसा आलम साढ़े चार साल तक उनकी सरकारी कोठी में रही।

ANI
@ANI
They’re (Capt Amarinder Singh) now saying that there’s threat from ISI. We’ll look into the woman’s connection with it (ISI). Capt kept raising drones issue coming from Pakistan for last 4.5 yrs: Punjab Dy CM on whether Amarinder Singh’s friend Aroosa Alam has links with ISI

राकेश भारती
@Bharti208
पाकिस्तान नागरिक अरूसा आलम सिर्फ @capt_amarinder
की मेहमान बनकर भारत आती रही, जबकि पाकिस्तान भारत में 70वर्षो से ही #अस्थिरता फैलाता रहा है, क्यों #देशभक्त अमरिन्दर सिंह किस और कौन से रिश्ते से अपने फार्म हाउस में ठहराते रहे, आवश्य जांच हो और जरूरी हो तो कैप्टन से #पूछताछ भी हो।

Dr Surinder Singla Sangrur
@Drsinglasangrur
आश्चर्यजनक कि आरूसा आलम के ISI कनेक्शन सम्बन्धी मामला उसके लगभग पंद्रह वर्ष रहने के बाद शंकाओं के घेरे में क्यों आया है …क्या कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के पावर में रहते यही नेता उनसे डरते थे अथवा अब यह मुद्दा कांग्रेस की नाकामियों को छिपाने के लिए लोगों का ध्यान भटकाने के लिए है ??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *