विशेष

2 दिन पहले ही मोदी के मंत्री अजय मिश्रा ने किसानों से कहा था, “सुधार जाओ नहीं तो मैं सुधार दूंगा, 2 मिनट नहीं लगेगा”, फिर 3 oct को जो हुआ आपके सामने है…वीडियो

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi
क्या यह सिर्फ संयोग है या फिर प्रयोग है? दो दिन पहले ही किसानों द्वारा काला झंडा दिखाए जाने से नाराज़ केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा ने कहा था कि “सुधार जाओ,नहीं तो मैं सुधार दूंगा।दो मिनट नहीं लगेगा।”और फिर तीन अक्टूबर जो हुआ वह आपके सामने है।

Surya Pratap Singh IAS Rtd.
@suryapsingh_IAS
जो मौतें हो रही हैं ये आपके ही देश के किसान हैं, ये आपके अन्नदाता हैं, हर वेद, हर पुराण हर श्लोक सबसे पहले अन्नदाता के आगे शीश झुकाने को कहता है। ये कौन सा हिंदुत्व है जो इंसान को इंसान का दुश्मन बना रहा है? मानवता को खत्म कर एक हिंसक समाज बना रहा है? आत्ममंथन जरूरी है।

HANUMAN BENIWAL
@hanumanbeniwal
UP के लखीमपुर खीरी में कृषि कानूनो के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को भाजपा के गृह राज्य मंत्री के पुत्र द्वारा गाड़ी से रौंदना अमानवीय व गैर जिम्मेदाराना कृत्य है !

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi
हिंसा सिर्फ वह नहीं है जो ज़मीन पर किसी इंसान के साथ की जाती है, बल्कि सोशल मीडिया पर दंगाईयों, ज़हरजीवियों, लिंचिंग करने वालों के समर्थन में ट्रेंड चलाना भी हिंसा ही है। देखा! आज यह देश कहां पहुंचा दिया गया? जिन्होंने इस सरकार को चुना है वो जरूर सोचें।

Bhartiya kisan Union
@OfficialBKU
लखीमपुर खीरी में आंदोलन कर रहे किसानों को गृह राज्य मंत्री टेनी के बेटे ने गाड़ी से रौंदा 3 किसानों की मौत तेजेंद्र सिंह विर्क के भी घायल होने की सूचना है
राकेश टिकैत जी गाजीपुर से निकल रहे है

Bhartiya kisan Union
@OfficialBKU
लखीमपुर खीरी नरसंहार के विरोध में कल 10:00 बजे से जिलाधिकारी कार्यालय का घेराव कर सभी किसान साथी जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंचकर केंद्रीय मंत्री अजय टेनी को बर्खास्त करते हुए मंत्री सहित दोषियों की गिरफ्तारी की मांग करेंगे ।

धीरज शुक्ला
@Dheeraj_INCUP
आज रात तक अजय टेनी को मोदी सरकार बर्खास्त नहीं करती है। उसकी पुत्र सहित गिरफ्तारी नहीं होती है तो तय है किसानों का यह नरसंहार प्रधानमंत्री द्वारा प्रायोजित है।

PM के राजनीतिक राम नाम सत्य करने के संकल्प के साथ सिर पर कफ़न बांध संघर्ष क्षेत्र में कूद पड़ें!

डिस्क्लेमर : twitter में व्यक्त किए गए विचार, जानकारियां लेखक के निजी विचार हैं. लेख सोशल मीडिया फेसबुक/व्हाट्सप्प पर वायरल है, इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति तीसरी जंग हिंदी उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार तीसरी जंग हिंदी के नहीं हैं, तथा तीसरी जंग हिंदी उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *