देश

अग्निपथ’ : हथियार के साथ जब बेरोज़गार सड़क पर घूमेगा सेना का पूर्व सैनिक बनकर के तो इस देश में क्या हालात होने वाले हैं इसकी आप कल्पना कर सकते हैं : रिपोर्ट

JANU BAHUJAN
@JANUBAHUJAN
नए फौजी भर्ती से न सेना मजबूत होगी न ही देश मजबूत होगा बल्कि 4 साल बाद देश में गृहयुद्ध का माहौल बनाना आसान होगा। प्रशिक्षित लोगों द्वारा दंगा कराना बेहतर होगा।

BHARAT PRABHAT PARTY (BPP)
@BPPIND

#देश के #नवजवानों हेतु सरकार 4 साल सेना में नॉकरी का अवसर मात्र ₹21000 मानदेय पर और 4 साल बाद लगभग ₹11 लाख दे कर विदाई देने का आफर और किसी प्रकार की दुर्घटना होने पर 48 लाख का इन्शुरन्स का ऑफर प्रदत कर रही है और आवेदन शुल्क के नाम पर करोड़ो का वारा न्यारा भी करेगी.

 

अग्निपथ योजना की ख़ास बातें

– भर्ती होने की उम्र 17 साल से 21 साल के बीच होनी चाहिए
– शैक्षणिक योग्यता 10वीं या 12वीं पास
– भर्ती चार सालों के लिए होगी
– चार साल बाद सेवाकाल में प्रदर्शन के आधार पर मूल्यांकन होगा और 25 प्रतिशत लोगों को नियमित किया जाएगा
– चार साल बाद नियमित होने वाले जवानों को अग्निवीर कहा जाएगा
– पहले साल की सैलरी प्रति महीने 30 हज़ार होगी
– चौथे साल 40 हज़ार रुपए प्रति महीने मिलेंगे

 

Ajju Yadav🌾
@AjjuYad79172136
Replying to
@myogiadityanath
Gzb
तीनों सेनाओं को प्राइवेट कर दिया
देश का दुर्भाग्य
एक बेच रहा है
दूसरा मंदिर बना रहा है
अंधभक्त_ देशभक्त दोनों का सेनाओं में
कैरियर खत्म#Bjp

भारतीय सेना के तीनों प्रमुखों ने सेना में छोटी अवधि की नियुक्तियों को लेकर ‘अग्निपथ’ नीति की घोषणा की.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलावार को अग्निपथ से पर्दा हटाया. उन्होंने कहा कि रक्षा पर कैबिनेट कमिटी ने ऐतिहासिक फ़ैसला लिया है.

रक्षा मंत्री ने कहा, ”आज हम ‘अग्निपथ’ नामक एक परिवर्तनकारी योजना ला रहे हैं, जो हमारी सशस्त्र बलों में बदलाव लाकर उन्हें आधुनिक और बनाएगी.”

रक्षा मंत्री ने कहा, ”अग्निपथ’ योजना में भारतीय युवाओं को, बतौर ‘अग्निवीर’ सशस्त्र बलों में सेवा का अवसर प्रदान किया जाएगा. यह योजना देश की सुरक्षा को मज़बूत करने और हमारे युवाओं को सैन्य सेवा का अवसर देने के लिए लाई गई है. आप सब इस बात से ज़रूर सहमत होंगे कि संपूर्ण राष्ट्र, ख़ास तौर पर हमारे युवा सेना को सम्मान की दृष्टि से देखते हैं. अपने जीवन काल में कभी न कभी प्रत्येक बच्चा सेना की वर्दी धारण करने की तमन्ना रखता है.”

राजनाथ सिंह ने कहा, ”युवाओं को यह फ़ायदा भी होगा कि उन्हें नई-नई तकनीक के लिए आसानी से प्रशिक्षित किया जा सकेगा. उनकी सेहत और फिटनेस का स्तर भी बेहतर होगा. अग्निपथ योजना के अंतर्गत यह प्रयास किया जा रहा है कि भारतीय सशस्त्र बलों का प्रोफ़ाइल उतना ही युवा हो जितना कि भारतीय आबादी का है.”

रक्षा मंत्री ने कहा, ”अग्निपथ’ योजना से रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे. अग्निवीर सेवा के दौरान अर्जित स्किल और अनुभव से उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में रोज़गार प्राप्त होंगे. अग्निवीरों के लिए एक अच्छी पे पैकेज, चार साल की सेवा के बाद सेवा निधि पैकेज और एक ‘मृत्यु और विकलांगता’ पैकेज की भी व्यवस्था की गई है.”

Pankaj Punia
@PankajPuniaINC
अगले डेढ़ साल में दस लाख भर्तियां होंगी। चूंकि डेढ़ साल बाद चुनाव हैं, वैसे वादे के मुताबिक अब तक 16 करोड़ भर्तियां हो जानी चाहिए थीं। एक साल में 2 करोड़ का वादा किया गया था।

Rohan Gupta
@rohanrgupta
हर साल 2 करोड़ रोज़गार का जुमला देने वाले अब 1.5 साल में 10 लाख नौक़री देने का वादा करनें पर मजबूर हो गए हैं ।

क्या है अग्निपथ योजना?
‘अग्निपथ’ के तहत सेना में युवाओं को चार साल तक काम करने के लिए मौक़ा मिलेगा. इसें जॉइन करने वाले 25 फ़ीसदी युवाओं को बाद में रिटेन किया जाएगा. यानी 100 में से 25 लोगों को पूर्णकालिक सेवा का मौक़ा मिलेगा.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस योजना से रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे और देश की सुरक्षा मज़बूत होगी. रक्षा मंत्री ने युवाओं से अग्निवीर बनने की अपील की. अग्निवीर चार साल की सेवा के बाद रिटेन किए गए 25 फ़ीसदी सैनिकों को कहा जाएगा.

इस दौरान नेवी चीफ़ एडमिरल आर. हरि कुमार ने कहा कि इस योजना के तहत चार साल के लिए क़रीब 45000 युवाओं को भर्ती किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सेना के अग्निवीरों में महिलाएं भी शामिल होंगी.

अग्निपथ के तहत भर्ती किए गए युवाओं को आगे रिटेन होने के लिए छह महीने की ट्रेनिंग से गुज़रना होगा.

SHILPI PARIHAR
@ShilpiSinghINC
15 लाख दिलाने वाला 5 kg राशन पर आ गया…

10 करोड़ रोजगार देने

वाला 10 लाख नौकरी पर आ गया.

देखा आ गए ना अच्छे दिन…!

पीआईबी हिंदी
@PIBHindi
यह योजना युवाओं को सशस्त्र बलों के नियमित संवर्ग में सेवा करने का अवसर प्रदान करेगी,

अग्निवीरों को प्रशिक्षण अवधि सहित 4 वर्ष की सेवा अवधि के लिए एक अच्छे वित्तीय पैकेज के साथ नामांकित किया जाएगा

इनका वेतन 40 हज़ार रुपए के क़रीब होगा. इस योजना का एलान करते हुए सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने कहा कि इस योजना को सभी संबंधित पक्षों के साथ विस्तृत चर्चा और विचार विमर्श के बाद लाया गया है. अगले 90 दिनों यानी तीन माह के अंदर अग्निपथ योजना के तहत भर्तियां शुरू हो जाएंगी. नए अग्निवीरों की उम्र साढ़े 17 साल से 21 साल के बीच होगी.

रक्षा मंत्रालय ने कहा है, ”अग्निपथ’, थल सेना, वायु सेना और नेवी में भर्ती होने के लिए एक अखिल भारतीय योग्यता-आधारित भर्ती योजना है. यह योजना युवाओं को सशस्त्र बलों के नियमित संवर्ग में सेवा करने का अवसर प्रदान करेगी. अग्निवीरों को प्रशिक्षण अवधि सहित 4 वर्ष की सेवा अवधि के लिए एक अच्छे वित्तीय पैकेज के साथ भर्ती किया जाएगा. चार साल के बाद 25% तक अग्निवीरों को केंद्रीयकृत और पारदर्शी प्रणाली के आधार पर नियमित किया जाएगा. 100% उम्मीदवार नियमित संवर्ग में भर्ती के लिए बतौर वॉलन्टियर आवेदन कर सकते हैं.”

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, ”अग्निपथ योजना सभी अग्निवीरों को 30,000 रुपए प्रति महीने और चौथे वर्ष में 40,000 रुपए प्रति महीने तक का आकर्षक मासिक पैकेज प्रदान करेगी. चार साल पूरे होने पर सभी उम्मीदवारों के लिए एक समग्र वित्तीय पैकेज, ‘सेवा निधि’ का भी प्रावधान है.”

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत की सेना को विश्वस्तरीय सेना बनाने में अग्निपथ योजना की अहम भूमिका होगी.

भारत उन देशों में से एक है, जहाँ सेना में बड़ी संख्या में लोगों को रोज़गार मिलता है. भारतीय सेना में 14 लाख लोगों को नौकरी मिली हुई है.

भारत के नौजवानों में सेना में जाने की तमन्ना बहुत लंबे समय से प्रबल रही है. भारतीय सेना से हर साल 60 हज़ार कर्मी रिटायर होते हैं. सेना इन ख़ाली पदों पर खुली भर्तियों के लिए 100 से ज़्यादा रैलियाँ आयोजित करती रही थी.

अग्निपथ योजना की आलोचना भी

अग्निपथ योजना में भर्तियों के तरीक़े तो ‘टूर ऑफ ड्यूटी’ कहा जा रहा है. सिंगापुर में एस राजरत्नम स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के अनित मुखर्जी ने बीबीसी से कहा था, ”पेशेवर सैनिकों की जगह छोटी अवधि वाली सैनिक लेंगे तो इसका असर क्षमता पर पड़ेगा.”

सेंटर फोर पॉलिसी रिसर्च के सीनियर फेलो सुशांत सिंह इस प्रस्ताव से असहज हैं. वह कहते हैं कि सैनिकों में युवाओं की भर्तियां छोटी अवधि के लिए करेंगे तो वे 24 साल होते-होते फौज से बाहर हो जाएंगे. इससे देश में और बेरोज़गारी ही बढ़ेगी.

सुशांत कहते हैं, ”क्या आप वाक़ई कि बड़ी संख्या में सैन्य प्रशिक्षण लेने वाले युवाओं को नौकरी से बाहर करना चाहते हैं? ये युवा फिर उसी समाज में आएंगे, जहाँ पहले से ही हिंसा बढ़ी हुई है. क्या आप चाहते हैं कि ये पूर्व फौजी पुलिस और सिक्यॉरिटी गार्ड बनेंगे? मेरा डर है कि कहीं हथियार चलाने की ट्रेनिंग लेने वाले बेरोज़गार युवाओं का मिलिशिया न तैयार हो जाए.”

Shandilya Giriraj Singh
@girirajsinghbjp
अग्निपथ योजना से सेनाओं में युवा शक्ति होगी, फिटनेस स्तर और बेहतर होगा।
वर्तमान में सेनाओं की औसत आयु 32वर्ष है,इस योजना के लागू होने से यह घटकर 24 से 26 वर्ष हो जाएगी।
अग्निवरों के लिए अच्छा वेतन पैकेज मिलेगा,उच्च कौशल संसाधन भी उपलब्ध होंगे और एग्ज़िट के समय अच्छी राशि दी जाएगी

Surya Pratap Singh IAS Rtd.
@suryapsingh_IAS
साढ़े 17 से 21 वर्ष के युवा सेना में 4 साल के लिए भर्ती हो सकते हैं।

… बाद में ओवर एज होकर क्या करेंगे,पता नहीं।

लेकिन गर्व करिए कि आप कहलाएंगे #अग्निवीर….

अब न कहना कि सरकारी नौकरी नहीं मिली।
#अग्निपथ_योजना

Arunoday Vishvakarma
@Vishvakarma09
रक्षा मंत्री ने की ‘अग्निपथ भर्ती योजना’ की घोषणा, युवाओं के पास शॉर्ट टर्म के लिए सेना में जाने का मौका.!

ऐसी योजना नेता अपने लिए क्यों नहीं बनाते हैं कि एक बार ही विधायक सांसद बन सकते हैं.?

Pankaj Sharma पंकज शर्मा
@Pankaj___Sharma
अस्थाई और अल्प-प्रशिक्षित ‘अग्निवीर’ सरहदों की सुरक्षा के लिए कहीं ‘फुस्सतीर’ तो साबित नहीं हो जाएंगे?
@rajnathsingh
जी की अग्निपथ योजना कुछ समझ में नहीं आ रही।

Ranvijay Singh
@ranvijaylive
सरकार अग्निपथ योजना लेकर आई है. अब युवा सेना में 4 साल के लिए भर्ती हो सकते हैं. इन्हें अग्निवीर कहा जाएगा.

17 साल 6 महीने से 21 साल तक की उम्र के युवा आवेदन कर सकते हैं.

पहले साल सैलरी 30 हजार महीना मिलेगी. चौथे साल तक 40 हजार महीना हो जाएगी. आखिर में 10-12 लाख तक मिलेगा.

ANI_HindiNews
@AHindinews
भारतीय सेना भारत का गौरव है और देशवासियों का अभिमान है। युवाओं को भारतीय सेना से जोड़ने, देश की सीमाओं की सुरक्षा करने और भारत माता की एकता और अखंडता की रक्षा करने के लिए आज अग्निपथ योजना शुरू करने की घोषणा की गई है: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

ANI_HindiNews
@AHindinews
अग्निपथ योजना से रोजगार का अवसर बढ़ेगा। अग्निवीर सेवा के दौरान अर्जित कौशल एवं अनुभव से युवाओं को विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार प्राप्त होगा। इससे अर्थव्यवस्था को भी उच्च कुशल कार्यबल की उपलब्धता होगी जो उत्पादकता लाभ और सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि में सहायक होगा: रक्षा मंत्री

Amit Shah
@AmitShah
‘अग्निपथ योजना’ युवाओं को अपना व देश का सुनहरा कल बनाने का एक अद्भुत अवसर है।

भारत की युवाशक्ति को अनुशासित,स्किल्ड, फिट व आर्थिक रूप से सशक्त कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने वाला
@narendramodi
जी का यह दूरदर्शी निर्णय सच्चे अर्थों में आत्मनिर्भर भारत की नींव रखेगा। #BharatKeAgniveer

ANI_HindiNews
@AHindinews

मानव संसाधन प्रबंधन सुधार के रूप में यह एक बेहद परिवर्तनकारी योजना है और आने वाले समय में इसका वास्तविक प्रभाव रक्षा सेवाओं और नागरिक क्षेत्र में देखा जाएगा। हमें इसे युवाओं को दिए गए अवसर के रूप में देखना चाहिए: ‘अग्निपथ’ योजना पर पूर्व एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया

Yogi Adityanath
@myogiadityanath
आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में देश की सुरक्षा के सुदृढ़ीकरण व युवाओं को मिलिट्री सर्विस का सुअवसर प्रदान करने हेतु ‘अग्निपथ योजना’ शुरू करने का निर्णय अत्यंत सराहनीय है।

माँ भारती की सेवा को उत्सुक देश के असंख्य युवाओं की ओर से आभार प्रधानमंत्री जी!

ANI_HindiNews
@AHindinews
अग्निपथ योजना के जरिए नौजवान सेना में आए, नई ऊर्जा, नई तकनीक के साथ काम करें। देश की सेना को ताक़त देना, इस बड़े लक्ष्य को इस योजना के माध्यम से सफलतापूर्वक हासिल करेंगे। मैं प्रधानमंत्री को इस योजना के लिए बधाई देता हूं: हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, मंडी

ANI_HindiNews
@AHindinews

वो नौज़वान कौन होगा? RSS का कार्यकर्ता होगा या फिर बीजेपी का कार्यकर्ता होगा? यह देखने वाली बात है। चार साल के लिए हथियार चलाना सिखा रहे हो। वक़्त बताएगा कि इनकी एप्रोच क्या है: केंद्र सरकार द्वारा सेना भर्ती के लिए ‘अग्निपथ योजना’ शुरू करने पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत