दुनिया

इस्राईल का अंत निकट है

इस्राईल में जगह जगह संदिग्ध रूप से आग लगने का क्या है माजरा?

अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन या इस्राईल के यूटोटा शहर के क़रीब गाड़ियों को ढोने वाले टेलर में अचानक आग लग गई और धमाका होने के बाद बहुत सी गाड़ियां आग की चपेट में आ गईं।

ट्रेलर पर लादी गई गाड़ियों में से एक गाड़ी में अचानक धमाका हुआ और वह आग का गोला बन गई जबकि ट्रेलर पर लदी दूसरी गाड़ियां भी इसकी चपेट में आ गईं। पुलिस ने इस घटना के बाद इस राजमार्ग को आवाजाही के लिए पूरी तरह रोक दिया।

विशेषज्ञों की टीमें इस घटना की जांच कर रही हैं।

इससे कुछ घंटे पहले इस्राईली मीडिया में ख़बर आई कि उत्तरी इस्राईल में 18 बसों में आग लग गई। यह घटना सफ़द शहर में हुई जिसके बाद पूरे इलाक़े में सनसनी फैल गई।

 

इस्राईल का अंत निकट हैः महमूद अब्बास

फ़िलिस्तीन की स्वशासित सरकार के प्रमुख ने एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से भेंट में कहा है कि फिलिस्तीनी लोग अपने देश में बाकी रहेंगे यहां तक अतिग्रहणकारी जायोनी शासन का अंत हो जायेगा।

समाचार एजेन्सी फार्स की रिपोर्ट के अनुसार महमूद अब्बास ने शनिवार की शाम को एक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की जिसमें हालिया परिवर्तनों की समीक्षा की गयी और अवैध अधिकृत फिलिस्तीन में होने वाली घटनाओं को खतरनाक बताया गया। इसी प्रकार इस मुलाकात में फिलिस्तीनी जनता के खिलाफ जायोनी शासन की हिंसात्मक कार्यवाहियों की समीक्षा की गयी।

इस मुलाकात में महमूद अब्बास ने कहा कि राष्ट्रसंघ के प्रस्तावों के आधार पर हमारा उद्देश्य इस्राईल से मुक्ति पाना है, बैतुल मुकद्दस नगर का पूर्वी भाग भी फिलिस्तीन की राजधानी था और रहेगा और हम राष्ट्रीय सिद्धांतों पर कोई समझौता नहीं करेंगे। इसी प्रकार महमूद अब्बास ने इस मुलाकात में कहा कि हम अपनी भूमि में प्रतिरोध करेंगे और इस्राईल के अंत का समय आ गया है।

उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फिलिस्तीनी जनता का समर्थन नहीं हो रहा है और फिलिस्तीनियों का राजनीतिक भविष्य स्पष्ट नहीं है इन बातों के दृष्टिगत इस समय की स्थिति पर न तो चुप रहा जा सकता है और न ही उसे बर्दाश्त किया जा सकता है। फिलिस्तीन की स्वशासित सरकार के प्रमुख ने इसी प्रकार कहा कि फिलिस्तीनी अधिकारी तनाव उत्पन्न करने वाली जायोनी शासन की कार्यवाहियों से मुकाबला कर रहे हैं क्योंकि विश्व समुदाय ने जायोनी शासन को इस बात के लिए बाध्य नहीं किया कि वह अतिक्रमणकारी व अतिग्रहणकारी कार्यवाहियों से बाज़ आ जाये।

इसी प्रकार उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन मुक्ति मोर्चा संगठन का नाम अमेरिका की आतंकवादी गुटों की सूची से बाहर निकाला जाना चाहिये।

इस मुलाकात में अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल की अध्यक्ष बार्बर लीफ ने भी कहा कि बाइडेन सरकार फिलिस्तीन में दो सरकारों के विकल्प के प्रति कटिबद्ध है और इस प्रतिनिधिमंडल का मिशन और ज़िम्मेदारी भी बाइडेन की यात्रा की भूमि प्रशस्त करना और क्षेत्र में तनाव को बंद करने के रास्तों को खोजना है।

ज्ञात रहे कि महमूद अब्बास का यह बयान ऐसी स्थिति में सामने आ रहा है जब फिलिस्तीन की स्वशासित सरकार ने जायोनी शासन के साथ सुरक्षा समन्वय कर रखा है और फिलिस्तीन के प्रतिरोधी गुटों और लोगों के विरोध के बावजूद रामल्लाह ने इस समन्वय को निरस्त नहीं किया है।