राजस्थान राज्य

पूरे राजस्थान में इंटरनेट बैन : उदयपुर की घटना बीजेपी प्रवक्ता नुपुर शर्मा की करतूत का नतीजा है, लोग मर रहे हैं, जेल जा रहे हैं और वो मज़े से आज़ाद घूम रही है : रिपोर्ट

पैग़म्बरे इस्लाम के ख़िलाफ़ अपमानजनक बयान के समर्थक को मौत के घाट उतार दिया गया

बेजीपी की नेता नूपुर शर्मा द्वारा पैग़म्बरे इस्लाम के ख़िलाफ़ अपमानजनक बयान का समर्थन करने वाले एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया गया है।

मंगलवार को राजस्थान के उदयपुर में यह घटना घटी। इस हत्याकांड का एक छोटा सा वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहा है।

पुलिस का कहना है कि कन्हैयालाल तेली की दर्ज़ी की दुकान थी और उसे कई दिन से जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं।

हमलावर दिनदहाड़े तेली की दुकान में घुसे और तलवार से कई वार किए, जिसके बाद उसने मौक़े पर ही दम तोड़ दिया।

हमलावरों ने इस घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट करके हत्या की ज़िम्मेदारी ली है।

तेली को लगातार धमकियां मिल रही थीं, जिसके बाद उसने पिछले 6 दिनों से अपनी दुकान भी नहीं खोली थी। उसने धमकियां देने वालों के ख़िलाफ़ नामज़द रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना की निंदा करते हुए हमलावरों को जल्द से जल्द पकड़ने पर ज़ोर दिया है।

उदयपुर की घटना के बाद पूरे राजस्थान में इंटरनेट बैन

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर हवा सिंह घुमरिया ने कहा कि तत्काल एक्शन लेते हुए एसएचओ ने कन्हैयालाल और जो उन्हें धमकी दे रहे थे दोनों पक्ष से बातचीत कर हस्ताक्षर करवाया कि हम दोनों के बीच जो भी मनमुटाव था वो दूर हो गया है और एक लिखित रिपोर्ट भी दी गई जिसके बाद पुलिस ने आगे कोई कार्रवाई नहीं की।

राजस्थान की पूर्व सीएम और भाजपा नेता वसुंधरा राजे ने जयपुर में कहा कि उदयपुर में एक निर्दोष युवक की निर्मम हत्या से यह स्पष्ट हो गया है कि राज्य सरकार की शह और तुष्टिकरण के कारण अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। राज्य सरकार की इसी नीति के कारण प्रदेश में सांप्रदायिक उन्माद और हिंसा की स्थिति उत्पन्न हुई है। इस घटना के पीछे जिन लोगों और संगठनों का हाथ है उन्हें बेनकाब कर तुरंत गिरफ्तार किया जाए।

दर्जी कन्हैयालाल की हत्या के मामले की जांच के लिए सरकार ने एसआईटी का गठन कर दिया गया है। इस एसआईटी में एसओजी एडीजी अशोक राठौड़, एटीएस आईजी प्रफुल्ल कुमार के अलावा एक एसपी और एक एडिशनल एसपी शामिल किया गया है। सूत्रों के अनुसार बुधवार सुबह से एसआईटी मामले की जांच शुरू कर सकती है।

उदयपुर की घटना के बाद पूरे राजस्थान में इंटनेट सेवा बंद कर दी गई है। अगले 24 घंटे तक नेटबंदी के आदेश जारी किए गए हैं। इसके अलावा प्रदेश के सभी जिलों में भी एक महीने के लिए धारा 144 लागू कर दी गई है। मुख्य सचिव ऊषा शर्मा ने मंगलवार देर शाम बैठक कर सभी संभागीय आयुक्तों, पुलिस महानिरीक्षकों और जिला कलेक्टरों को प्रदेशभर में विशेष सतर्कता और चौकसी बरतने के निर्देश दिए हैं। उधर, मामले की जांच के लिए एनआईए की एक टीम उदयपुर रवाना हो गई है

उदयपुर के अलावा जयपुर संभाग में भी कर्फ्यू लगा दिया गया है। आदेश के तहत अगले 24 घंटे तक उदयपुर, अलवर, दौसा, जयपुर, झुंझुनू और सीकर में इंटरनेट सेवा बंद रहेगी। हालांकि, आशंका है कि इसे आगे भी बढ़ाया जा सकता है। उधर, पुलिस का कहना है कि हत्या में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। एक का नाम गोस मोहम्मद पुत्र रफीक मोहम्मद और दूसरे का नाम रियाज पुत्र अब्दुल जब्बार बताया जा रहा है। दोनों ही आरोपी उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के रहने वाले हैं

नुपुर शर्मा के समर्थक कन्हैलाल की हत्या के बाद बवाल शुरू जारी है। लोग सड़कों पर उतरकर हत्या का विरोध कर रहे हैं। साथ ही कई इलाकों में आगजनी और पत्थरबाजी की घटना भी सामने आई है। उधर, प्रशासन ने एहतियात के तौर पर सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। इंटरनेट सेवा भी अगले 24 घंटे के लिए बंद कर दी गई है। जयपुर से डीजी लेवल के दो अधिकारी और 600 से अधिक पुलिस बल उदयपुर में अतिरिक्त भेजा गया है।

सीएम बोले- कठोर कार्रवाई की जाएगी, शांति बनाए रखे
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोगों से शांति की अपील की है। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- ‘उदयपुर में युवक की जघन्य हत्या की भर्त्सना करता हूं। इस घटना में शामिल सभी अपराधियों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अपराध की पूरी तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं। ऐसे जघन्य अपराध में लिप्त हर व्यक्ति को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। मैं सभी से अपील करता हूं कि इस घटना का वीडियो शेयर कर माहौल खराब करने का प्रयास न करें। वीडियो शेयर करने से अपराधी का समाज में घृणा फैलाने का उद्देश्य सफल होगा।

घटना शहर के धानमंडी इलाके के भूत महल क्षेत्र का है। यहां रहने वाला कन्हैयालाल दर्जी की दुकान चलाता है। मंगलवार को वह अपने साथियों के साथ दुकान पर काम कर रहा था। इस दौरान बाइक पर आए दो मुस्लिम युवक उसे कपड़े का नाप देने लगे। उसके बाद अचानक हथियार से हमला कर दिया। करीब सात वार करने के बाद उसकी मौत हो गई। हमले के दौरान बीच-बचाव करने आया उसका साथी ईश्वर सिंह भी गंभीर रूप से घायल हो गया है। उसे इलाज के लिए शहर के एमबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

राहुल गांधी- धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं

नुपुर शर्मा के पैगंबर मोहम्मद पर दिए बयान का कथित समर्थन करने पर राजस्थान के उदयपुर में एक व्यक्ति की गला काटकर हत्या कर दी गई। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि दो युवक कपड़े का नाप देने के बहाने दर्जी की दुकान में पहुंचते हैं और फिर उस पर धारदार हथियार से हमला करते हैं। इसके बाद व्यक्ति की मौके पर ही मौत हो गई। शहर में चौबीस घंटों के लिए इंटरनेट को बंद कर दिया गया है।

लाश पर हो रही राजनीति: पूनिया
घटना को लेकर राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, ‘मैं भारतीय जनता पार्टी पीड़ित परिवार के साथ है। इस मामले में राजस्थान सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है। राजस्थान का गृह मंत्री और मुख्यमंत्री केवल एक ट्वीट करके लोगों के सद्भाव को बहाल नहीं कर सकता है। लोगों के सिर कलम हो रहे हैं दिन दहाड़े हत्याएं हो रही हैं और प्रदेश का मुखिया शांति और सद्भाव की अपील कर रहा है। ये उनका दोहरा चरित्र है। लाश पर राजनीति हो रही है। उन्हें कड़े शब्दों में निंदा करनी चाहिए थी। उन्होंने अपना राजधर्म ठीक से नहीं निभाया।’

अपराधियों पर होगी कठोर कार्रवाई: मुख्यमंत्री गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस घटना को लेकर कहा, “उदयपुर में युवक की जघन्य हत्या की भर्त्सना करता हूं। इस घटना में शामिल सभी अपराधियों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी एवं पुलिस अपराध की पूरी तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शान्ति बनाए रखने की अपील करता हूं। ऐसे जघन्य अपराध में लिप्त हर व्यक्ति को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा, चिंता की बात है। इस प्रकार से किसी की हत्या कर देने दुखद और शर्मनाक है। माहौल ठीक करने की जरूरत है। पूरे देश में तनाव का माहौल बन गया है। मैं बार-बार प्रधानमंत्री और गृहमंत्रालय को बोलता हूं कि देश को संबोधित करें।

किसी गिरोह के बिना इस प्रकार हत्या नही ंहो सकती: कटारिया
राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने कहा, “उदयपुर में दोपहर को एक हृदयविदारक और शर्मनाक हत्या हुई है। वीडियो भी वायरल किया गया है। किसी गिरोह के बिना इस प्रकार की हत्या नहीं हो सकती। मेरी एसपी से, डीजी से और सीएम से भी बात हुई है। आरोपियों को जल्द गिरफ़्तार किया जाए।”

अधिकारियों के साथ भेजी गई पुलिस फोर्स
एडीजी (कानून-व्यवस्था) हवा सिंह घुमरिया ने कहा, “ये जनमानस को उद्वेलित करने वाली घटना है। वीडियो वायरल होने से मामले और ज्यादा संवेदनशील हो गया है। पूरे राज्य को में हमने एसपी और आईजी को अपने-अपने इलाके में गश्त बढ़ाने, अधिकारियों को ज्यादा से ज्यादा फील्ड में उतारने के लिए कहा है।”

घुमरिया ने कहा, “एक डीआईजी जो वहां काफी रह चुके हैं उन्हें भेजा गया है। अधिकारियों के साथ-साथ करीब 600 की संख्या में पुलिस फोर्स वहां भेजी गई है, रात तक कुछ और फोर्स भी भेजी जाएगी।”

जम्मू-कश्मीर के पूर्व डीजीपी शेष पाल वैद ने एक ट्वीट में कहा, “उदयपुर में आज जो कुछ हुआ है, उससे गंभीर सांप्रदायिक दंगे भड़क सकते हैं। राजस्थान सरकार को कानून के तहत तत्काल कार्रवाई करने और दोनों अपराधियों को दंडित करने की आवश्यकता है अन्यथा यह कानून और व्यवस्था मशीनरी की विफलता होगी और केंद्र सरकार को कदम उठाने की जरूरत है। यह राजस्थान है या अफगानिस्तान?

ओवैसी ने भी की हत्याकांड की निंदा
एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी घटना की निंदा की है और मांग की है कि दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें।
I condemn the gruesome murder in Udaipur, Rajasthan. We demand that the state government takes the strictest possible action: AIMIM leader Asaduddin Owaisi pic.twitter.com/3TMwWcYOWt

— ANI (@ANI) June 28, 2022

तालिबानी क्षेत्र बनने की राह पर राजस्थान: भाजपा
भाजपा नेताओं ने कथित तौर पर इस्लाम के अपमान का बदला लेने के लिए दर्जी की हत्या को लेकर राजस्थान में कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लिया और दावा किया कि राज्य इसके शासन में “तालिबानी” क्षेत्र बनने की राह पर है।

दर्जी कन्हैया लाल की उदयपुर में उनकी दुकान पर हत्या कर दी गई। हमलावरों में से एक की पहचान रियाज के रूप में हुई, उसने लाल पर चाकू से हमला किया, जबकि दूसरे ने अपने मोबाइल फोन पर अपराध रिकॉर्ड किया। हत्या ने सांप्रदायिक तनाव पैदा कर दिया है और शहर के सात थाना क्षेत्रों में अगले आदेश तक कर्फ्यू घोषित कर दिया गया है।

राज्य में अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता और सांसद राज्यवर्धन राठौर ने कहा, “कांग्रेस के शासन में राजस्थान तालिबानी राज्य बनने की राह पर है। कांग्रेस द्वारा मुसलमानों के तुष्टिकरण ने जिहादियों के दुस्साहस को बढ़ा दिया है। इस हद तक कि वे खुलेआम हिंदुओं की हत्या कर रहे हैं और प्रधानमंत्री को धमकी दे रहे हैं।”

उदयपुर की घटना के लिए गहलोत सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए राठौर ने कहा कि यह अराजकता अधिकारियों द्वारा एक विशेष धर्म के उपद्रवियों को छूट देने का परिणाम है।

राजस्थान में पार हुईं सारी हदें- शेखावत
केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस घटना को ‘तुष्टिकरण’ का नतीजा बताते हुए कहा कि यह राजस्थान में सारी हदें पार कर चुकी हैं। राजस्थान के सांसद शेखावत ने कहा, “यह घटना सभ्य समाज को आतंकित करने की साजिश का हिस्सा है। गहलोत सपाट बयान देकर बच नहीं सकते।”

जंगलराज चला रही गहलोत सरकार- भूपेंद्र यादव
घटना की निंदा करते हुए राज्य के राज्यसभा सांसद और केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव ने कहा, “एक निर्दोष व्यक्ति की यह नृशंस हत्या दर्शाती है कि अशोक गहलोत सरकार जंगल राज चला रही है। ऐसा तब होता है जब कोई सरकार तुष्टीकरण को अपना शासन मॉडल बनाती है। निंदनीय स्थिति।”

देश के कानून और इस्लाम के खिलाफ कृत्य : जमीयत उलेमा-ए-हिंद
प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने दर्जी की जघन्य हत्या की निंदा करते हुए कहा कि इस तरह के कृत्य को किसी भी तरह से जायज नहीं ठहराया जा सकता है और यह इस्लाम धर्म के खिलाफ है। जमीयत के महासचिव मौलाना हकीमुद्दीन कासमी ने एक बयान में “पैगंबर के अपमान के बहाने उदयपुर में क्रूर हत्या” की निंदा की और इसे इस्लाम धर्म के खिलाफ बताया।

उन्होंने कहा कि जिसने भी इस घटना को अंजाम दिया है उसे किसी भी तरह से न्यायोचित नहीं ठहराया जा सकता और यह कृत्य देश के कानून और ‘हमारे धर्म’ के खिलाफ है। कासमी ने कहा, “हमारे देश में कानून की व्यवस्था है, किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है।” उन्होंने देश के सभी नागरिकों से संयम बरतने और देश में शांति बनाए रखने की भी अपील की।

मिलकर नफरत को हराएं : राहुल गांधी
कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी ने घटना को लेकर कहा, “उदयपुर में हुई जघन्य हत्या से मैं बेहद स्तब्ध हूं। धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जा सकती। इस हैवानियत से आतंक फैलाने वालों को तुरंत सख्त सजा मिले। हम सभी को साथ मिलकर नफरत को हराना है। मेरी सभी से अपील है, कृपया शांति और भाईचारा बनाए रखें।”

Rahul Gandhi
@RahulGandhi

उदयपुर में हुई जघन्य हत्या से मैं बेहद स्तब्ध हूं।

धर्म के नाम पर बर्बरता बर्दाश्त नहीं की जा सकती। इस हैवानियत से आतंक फैलाने वालों को तुरंत सख़्त सज़ा मिले।

हम सभी को साथ मिलकर नफ़रत को हराना है। मेरी सभी से अपील है, कृपया शांति और भाईचारा बनाए रखें।

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi
उदयपुर में धर्म के नाम पर कन्हैय्यालाल की हत्या हुई। इस हत्या की तमाम मुस्लिम संगठनो, नेताओं, सोशल एक्टिविस्टों, पत्रकारों ने निंदा करते हुए मुजरिमों को सख्त सज़ा की मांग की है। दुआ कीजिये कि किसी ‘अफराज़ुल’ के साथ ऐसी घटना न घटे और यदि घट जाए तब आप भी ऐसा ही साहस दिखा दीजिएगा।🙏

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi

राजस्थान के उदयपुर में कन्हैय्यालाल की हत्या के आरोपितों पर सख्त कार्रावाई होनी चाहिए। इस्लाम! जिसने जंग में भी निहत्थे पर वार करने की इजाज़त नहीं दी। उसके नाम पर किसी निहत्थे शख्स की धोखे से हत्या करने वाले न सिर्फ मुसलमानों बल्कि इस्लाम के भी दुश्मन हैं।

Vinod Kapri
@vinodkapri
क्या ये देश भारत के प्रधानमंत्री श्री
@narendramodi
से उम्मीद करें कि वो जल्द से जल्द राष्ट्र को संबोधित करते हुए आपसी भाईचारे, सांप्रदायिक सौहार्द की अपील करें और कहें कि इस महान देश में नफ़रत के लिए कोई जगह नहीं है ?

ये तो कोई बहुत बड़ी अपेक्षा नहीं है ना सर ??

Archana Singh
@BPPDELNP
#संजीव_भट्ट की जमानत याचिका दो साल से #सुप्रीम_कोर्ट_की_रजिस्ट्री में धूल फांक रही है !
तारीख मिलना तो छोड़िए
आज तक उसके लिए बेंच भी तय नहीं हुई.!

उधर #शिवसेना_के_बागियों ने रविवार को याचिका डाली
और #सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने #सुनवाई कर ली कौन मानेगा कि अ!दा!लत बिकती नहीं हैं.?

Ashraf Hussain
@AshrafFem
इलाहाबाद हाईकोर्ट की जज ने आफरीन फातमा की अम्मी के घर को तोड़ने के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई से खुद को अलग किया…

Surya Pratap Singh IAS Rtd.
@suryapsingh_IAS
#उदयपुर में धर्म के नाम पर एक निर्दोष की निर्मम हत्या अति निंदनीय है।

आज देश किस दोराहे पर खड़ा है, जिसमें धर्म के नाम पर लोग एक दूसरे को मरने मारने पर उतारू हो जा रहे हैं।

कट्टरपंथ धर्म का विकृत स्वरूप है,धर्म चाहे कोई भी हो।

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi
इस देश के किसी भी कोने में जहां भी ‘हेट क्राइम’ होता है। उस क्राइम को करने वाले जितने बड़े गुनहगार हैं, उनसे भी बड़े गुनहगार टीवी चैनल्स के स्टूडियो में बैठकर समाज में नफ़रत परोस रहे हैं। इन तमाम घटनाओं की मास्टर माइंड यही स्टूडियो वाली प्रजाति है, जिसे आप एंकर कह दिया करते हैं।

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi
पिछले कुछ महीनों में राजस्थान में लगातार सांप्रदायिक तनाव पैदा करने के षड़यंत्र हुए हैं। करौली में हिंसा हुई, उसके बाद जोधपुर में सांप्रदायिक हिंसा हुई। दो दिन पहले अजमेर में फ्रिंज एलिमेंट्स के समर्थन में जुलूस निकला, और आज उदयपुर हुई हत्या ने सांप्रदायिक उन्माद को हवा दे दी है।

ANI_HindiNews
@AHindinews

अपराधी की कोई जाति नहीं होती है। क़ानून अपना काम कर रहा है और आरोपियों के ख़िलाफ़ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। पीड़ित परिवार को यथासंभव सहायता प्रदान की जाएगी। जो प्रावधान हैं उसके अंतर्गत कार्रवाई होगी: तारा चंद मीणा, कलेक्टर, उदयपुर

Abhinav Pandey
@Abhinav_Pan
राजस्थान पुलिस ने दो हत्यारों को पकड़ लिया। उसके बाद की तस्वीर है ये।इनकी शक्ल बता रही है, पुलिस ने मौक़े पर ही क़ायदे प्रसाद वितरण किया है।

अभी थाने में भी ख़ातिरदारी होनी है