दुनिया

मंकीपाॅक्स को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने ग्लोबल हेल्थ एमेरजेंसी घोषित किया : video

मंकीपाॅक्स को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने वैश्चिक स्वास्थ्य आपात घोषित कर दिया है।

संयुक्त राष्ट्रसंघ के डब्लूएचओ ने घोषणा की है कि विश्व में देशों में तेज़ी से मंकीपाॅक्स का प्रसार एक बहुत ही गंभीर ख़तरा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार इसके संबन्ध में हमें विशेष सावधानी बरतनी होगी। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने लंबी चर्चा के बाद मंकीपाॅक्स को ग्लोबल इमरजेंसी घोषित कर दिया है। सदस्यों के बीच आम सहमति न बन पाने के बावजूद डब्लूएचओ ने यह फैसला लिया है।

इसी के साथ डब्लूएचओ के महानिदेशक टेढ्रोस घेब्रयेसेस ने यह भी कहा है कि इसके बारे में बहुत अधिक चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि इससे मरने वालों की संख्या न के बराबर है।

यह बीमारी अबतक 80 देशों में फैल चुकी है। मंकीपाॅक्स एसा संक्रमण है जिसमें मनुष्य के शरीर पर दाने निकल आते हैं। यह बीमारी संक्रमित व्यक्ति के कपड़ो, बिस्तर और बर्तनों से भी फैल सकती है। मंकीपाॅक्स से लोगों के मरने की आंकड़ा न के बराबर है।

मंकीपाॅक्स के अबतक 16886 मामले सामने आ चुके हैं। मंकीपाॅक्स से सबसे अधिक संक्रमित यूरोप मे पाए गए हैं। वहां पर इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 11985 को पार कर चुकी है। मंकीपाॅक्स से प्रभावित टाप टेन देशों में अमरीका, ब्रिटेन, स्पेन, जर्मनी फ्रांस, पुर्तगाल, कनाडा, इटली, बेल्जियम और नीदरलैंड हैं।