दुनिया

यूरोप में भीषण गर्मी के कारण हाहाकार मचा हुआ है, एशिया के कुछ देशों में तापमान 47 से 49 डिग्री पहुंचा

केन्द्रीय एशिया में पड़ रही भीषण गर्मी ने पिछले 78 वर्षों का रेकार्ड तोड़ दिया है।

यूरोप में गर्मी के रेकार्ड टूटते जा रहे हैं। वहां के कई देशों में भीषण गर्मी के कारण हाहाकार मचा हुआ है। कई यूरोपीय देशों में जंगलों में आग लगने का क्रम भी चल रहा है। यूरोप में हीटवेव के चलते जंगलों में अनियंत्रित आग लग रही है। यूरोप में इस भीषण गर्मी के कारण बहुत बड़ी संख्या में लोग मौत का शिकार हुए हैं।

इसी बीच केन्द्रीय एशिया के कुछ देशों में तापमान 47 से 49 डिग्री पहुंच चुका है।फ़ार्स न्यूज़ के अनुसार सन 1944 में दक्षिणी ताजिकिस्तान में तापमान 47 डिग्री हो गया था जो अपनेआप में वहां के लिए रेकार्ड था। कई दशकों के बाद अब वहां पर भीषण गर्मी के कारण तापमान 47 डिग्री को पार कर चुका है।

दूसरी ओर उज़बेकिस्तान के मौसम विभाग ने घोषणा की है कि इस देश में 23 से 26 जूलाई के बीच तापतान में 5 से 7 डिग्री की वृद्धि हो सकती है जिससे यहां पर तापमान बढ़कर 47 डिग्री रहेगा। जून के अंत और जूलाई के आरंभ में तुर्कमनिस्तान में अभूतपूर्व हीटवेव देखी गई।इस दौरान वहां पर पड़ने वाली भीषण गर्मी के कारण तापमान 49 डिग्री तक पहुंच गया था।

केन्द्रीय एशिया के एक अन्य देश क़ज़ाक़िस्तान के मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि आगामी दिनों में देश में तापतान बढ़कर 46 डिग्री तक चला जाएगा। इसी प्रकार से क़िरक़ीज़िस्तान में भी अगले कुछ दिनों के दौरान तापमान 46 को पार कर जाएगा।