दुनिया

अब रूस अपने सहयोगियों को बेचेगा अत्याधुनिक हथियार, पुतीन ने अमेरिका को चिंता में डाला!

रूसी राष्ट्रपति के नए एलान ने एक बार फिर अमेरिका को चिंता में डाल दिया है। पुतीन ने कहा है कि रूस दुनिया भर के सहयोगियों को अत्याधुनिक हथियार बेचने को तैयार है। मास्को सहयोगियों को उनकी सैन्य क्षमताओं का निर्माण करने में मदद करने के लिए भी उत्सुक है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतीन ने सोमवार को कहा है कि मास्को लैटिन अमेरिकी देशों, एशिया और अफ़्रीक़ी के देशों के साथ अपने संबंधों को पूरा महत्व देता है। पुतीन ने दावा किया कि रूस के पास जो हथियार हैं वे पश्चिम से ज़्यादा शक्तिशाली और उन्नत हैं। अमेरिका और पश्चिमी देश हथियारों के मामले में रूस से बहुत पीछे हैं। राष्ट्रपति पुतीन ने मास्को के पास हुई एक हथियारों की प्रदर्शनी के मौक़े पर भाषण देते हुए रूस की उन्नत हथियार क्षमता की तारीफ़ के पुल बांधते हुए घोषणा की कि मास्को समान सोच वाले देशों के साथ हथियारों की तकनीक साझा करना चाहता है। पुतीन ने आर्मी-2022 फोरम के उद्घाटन के मौक़े पर कहा, ” हम अपने सहयोगियों को सबसे उन्नत तरीक़े के हथिायर देने के लिए तैयार हैं, इसमें छोटे हथियारों से लेकर बख़्तरबंद वाहन और हवाई युद्ध की सामग्री और ड्रोन भी शामिल हैं।”

रूसी राष्ट्रपति ने कहा कि, हमारे पास जो हथियार हैं उन सभी एक बार से अधिक वास्तविक युद्द में प्रयोग किया जा चुका है। व्लादिमिर पुतीन रूस यूक्रेन युद्ध के छठे महीने में यह भाषण दे रहे थे। पश्चिमी सैन्य विश्लेषकों का कहना है कि आर्थिक प्रतिबंधों से घिरा रूस हथियार बेच कर युद्ध के संसाधन जुटाने की तैयारी कर रहा है। लेकिन अमेरिकी और पश्चिमी प्रतिबंधों को देखते हुए एशियाई और अफ़्रीक़ी देशों के लिए रूसी हथियार खरीदना आसाना नहीं होगा। उनका कहना है कि रूसी सेना और हथियारों का ख़राब प्रदर्शन देखते हुए भारत जैसे संभावित खरीददारों के लिए इन्हें खरीदना कम आकर्षक होगा क्योंकि रूसी हथियार पुरानी तकनीक पर निर्भर हैं। इस बीच पुतीन ने यूक्रेन के साथ चलने वाले युद्ध पर सवाल पूछा गया कि कब तक चलेगी जंग, तो उन्होंने कहा कि युद्ध तभी तक चलेगा जब तक यूक्रेन में हथियारों की सप्लाई बंद नहीं हो जाती रूस पर लगे प्रतिबंध समाप्त नहीं हो जाते।