देश

पैग़म्बर-ए-इस्लाम की शान में गुस्ताख़ी करने वाले आरएसएस/बीजेपी के शूरवीर टी राजा को पुलिस ने पकड़ा, अदालत ने ज़मानत दे दी : रिपोर्ट

पैग़ंबर मोहम्मद पर विवादित बयान देने के मामले में कोर्ट ने बीजेपी विधायक टी राजा सिंह को ज़मानत दे दी है. लाइव लॉ के मुताबिक हैदराबाद पुलिस ने कोर्ट में रिमांड ऑर्डर पेश किया था जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है.

उनके विवादित बयान के विरोध में हैदराबाद में सोमवार देर रात प्रदर्शन हुए. प्रदर्शनकारियों ने टी राजा सिंह की जल्द से जल्द गिरफ़्तारी की मांग की थी. जिसके बाद पुलिस ने बीजेपी विधायक टी राजा को मंगलवार सुबह गिरफ्तार किया. वहीं शाम को टी राजा सिंह को कोर्ट से ज़मानत भी मिल गई.

वहीं बीजेपी ने विवादित बयान देने के आरोप में हैदराबाद की गोशामहल सीट से विधायक टी राजा सिंह को निलंबित कर दिया है. साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है और 10 दिनों के अंदर जवाब देने को कहा गया है.

पूरा मामला क्या है

दरअसल टी राजा सिंह ने सोमवार की रात सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया था. इसमें स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक टिप्पणी की गई थी. यह वीडियो दस मिनट से ज्यादा का है.

राजा सिंह धार्मिक मामलों पर अपनी टिप्पणियों के लिए ‘कुख्यात’ रहे हैं. हालांकि उनका दावा है कि मौजूदा टिप्पणी तेलंगाना सरकार के फैसले के ख़िलाफ़ थी.

राजा सिंह फारूकी को शो करने की इजाजत देने के सरकार के फैसले का विरोध कर रहे थे. हैदराबाद में फारूकी का शो 20 अगस्त को हुआ था.

मुनव्वर फारूकी को इसके पहले हिंदू देवी-देवताओं के ख़िलाफ़ कथित अपमानजनक टिप्पणी के आरोप में मध्य प्रदेश पुलिस गिरफ़्तार कर चुकी है.

उनकी रिहाई के बाद पिछले साल नवंबर में बेंगलुरु में होने वाले उनके शो रद्द कर दिए गए थे, लेकिन तेलंगाना के आईटी मंत्री टी तारक रामा राव ने मुनव्वर फारूकी को शो के लिए हैदराबाद बुलाया था और आश्वस्त किया था कि यह रद्द नहीं होगा.

टी. राजा सिंह के ख़िलाफ़ कई केस दर्ज

टी. राजा सिंह ने शो करने की इजाज़त देने का विरोध करते हुए बयान दिए थे. हालांकि पुलिस ने इस शो के लिए काफ़ी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की थी. राजा सिंह ने आयोजन स्थल को नुकसान पहुंचाने की भी धमकी दी थी. लेकिन उनके बयान और कुछ युवा बीजेपी नेताओं के विरोध के बावजूद शो रद्द नहीं हुआ.

शो के एक एक दिन पहले विधायक ने कहा था कि वह भी 23 अगस्त को ऐसा शो करेंगे. इसके साथ ही उन्होंने फारूकी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां कीं.

उन्होंने कहा, ”हम मुनव्वर को नहीं छोड़ेंगे. हम उसे पीट कर रख देंगे. अगर पुलिस ने उसके शो को इजाजत दी तो मैं भी ऐसा ही आयोजन करूंगा. मेरा आयोजन इस देश के हर हिंदू को गौरवान्वित करेगा और इसके बाद देश में सांप्रदायिक तनाव जैसी स्थिति पैदा होगी”

कौन हैं टी राजा सिंह

ये पहली बार नहीं है जब राजा सिंह ने इस तरह की विवादास्पद टिप्पणी की है. राजा सिंह ने अपना राजनीतिक करियर बतौर पार्षद शुरू किया था. फिर बाद में वह बीजेपी में शामिल हो गए. गोशामहल से वह दो बार विधायक चुने गए हैं.

टी राजा सिंह कई बार वह भड़काने वाले बयान दे चुके हैं. उन्होंने बार-बार कहा है कि उन्हें चुनाव जीतने के लिए मुस्लिम वोटों की जरूरत नहीं है.

एक बयान में उन्होंने कहा था, ”मैं धर्म की रक्षा के लिए मार भी सकता हूं और मर भी सकता हूं.” यह बयान वह कई बार देते हैं. इस तरह के इस्लामफोबिया को बढ़ावा देने वाले बयान देने के लिए उनके ख़िलाफ़ कई केस दर्ज हैं.

जब से टी राजा सिंह का नया वीडियो आया है तब से उनका विरोध शुरू हो गया है. हैदराबाद में कई मुस्लिम युवक पुलिस थानों के बाहर टी राजा सिंह के खिलाफ प्रदर्शन करते देखे गए.

पुलिस ने किया था गिरफ़्तार

टी राजा सिंह के खिलाफ तेलंगाना पुलिस ने आईपीसी की धारा 295ए और 153ए के तहत केस दर्ज किया गया है. मंगलवार की सुबह उन्हें गिरफ़्तार किया गया था. पुलिस उन्हें बोल्लारम थाने ले गई थी.

गिरफ़्तारी के बावजूद राजा सिंह शांत नहीं रहे. उन्होंने कहा, “मैंने जो कहा है उस पर डटा हूं. जेल से बाहर निकलते ही मैं दूसरा वीडियो जारी करूंगा.”

असदुद्दीन ओवैसी ने उठाए सवाल

उनके बयानों पर प्रतिक्रिया देते हुए हैदराबाद से सांसद और एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि पिछले आठ साल से शहर में शांति थी.

ओवैसी ने कहा, ”बीजेपी हैदराबाद में सांप्रदायिक तनाव पैदा करना चाहती है. वे पैगंबर का अपमान कर मुस्लिमों की भावनाओं को चोट पहुंचाना चाहते हैं. लोगों को बांटने वाली राजनीति से बीजेपी फायदा उठाना चाहती है.”

तेलंगाना की सत्ताधारी पार्टी टीआरएस ने राजा सिंह के बयान की आलोचना की है.

टीआरएस सरकार के मंत्री कोप्पुला ईश्वर ने कहा, ”तेलंगाना शांतिप्रिय लोगों का राज्य रहा है. यहां सांप्रदायिक तनाव नहीं रहा है. लेकिन बीजेपी सांप्रदायिक तनाव की आग भड़काने में लगी है. वह राज्य के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने को खत्म करना चाहती है.”

वरिष्ठ कांग्रेस नेता वी हनुमंत राव ने कहा, ”इस तरह के बयान देने वालों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले दर्ज किए जाने चाहिए. उनकी विधायकी रद्द की जानी चाहिए. बीजेपी चाहती है कि देश में सिर्फ़ हिंदू ही रहें. अगर कर्फ्यू लगा और संघर्ष हुए तो छोटे कारोबारियों का काम कैसे चलेगा.’

बीजेपी की तेलंगाना इकाई ने साधी चुप्पी

लेकिन बीजेपी की तेलंगाना इकाई इस पर चुप्पी साधे हुए है. इस मामले पर प्रतिक्रिया पूछने पर केंद्रीय मंत्री किशन रेड्डी ने कहा, ”राजा सिंह ने क्या कहा ये मैंने नहीं सुना है.”

बीजेपी सांसद धर्मपुरी अरविंद ने भी कोई जवाब देने से इनकार कर दिया.

पहले भी टी राजा सिंह ने इस तरह के बयान दिए हैं, लेकिन उनकी टिप्पणियों पर लीपापोती कर दी गई. कहा गया है कि यह उनकी राय है पार्टी की नहीं.

हालांकि इस बार बीजेपी ने उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की है और निलंबन नोटिस जारी किया है. नोटिस में कहा गया है कि अगली जांच तक उन्हें पार्टी से निलंबित किया जाता है. उन्हें दस दिन के अंदर कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के लिए कहा गया है. इसमें नाकाम रहने पर उन्हें पार्टी से बर्ख़ास्त किया जा सकता है.

राजा सिंह को गिरफ़्तारी के बाद नामपल्ली कोर्ट में पेश किया गया. लेकिन कोर्ट ने उन्हें तुरंत रिहा करने का आदेश दे दिया.

जिस वक्त नामपल्ली में उनकी रिहाई के लिए सुनवाई हो रही थी उस वक्त अदालत परिसर के बाहर दो समुदाय के लोग जमा हो गए. एक समुदाय के समर्थक टी राजा सिंह के विरोध में नारे लगा रहे थे, वहीं दूसरे समुदाय के लोग उनके विरोध में नारेबाजी कर रहे थे. पुलिस को इन लोगों को तितर-बितर करने के लिए लाठियां चलानी पड़ी.

===================
सतीश बाला
बीबीसी संवाददाता

 

 

Shahnawaz Ansari
@shanu_sab

पैग़म्बर-ए-इस्लाम की शान में गुस्ताख़ी करने वाले नवीन जिंदल और नूपुर शर्मा को गिरफ़्तार करने के बजाए बीजेपी सरकार ने उन्हें सुरक्षा प्रदान किया है।
अब बीजेपी विधायक टी राजा सिंह ने पैग़म्बर-ए-इस्लाम के ख़िलाफ़ ज़हर उगला है। आख़िर यह कबतक चलता रहेगा?

Shahnawaz Ansari
@shanu_sab

भारत में आयेदिन पैग़म्बर-ए-इस्लाम की शान में गुस्ताख़ी की जा रही है। बीते रोज़ बीजेपी विधायक टी राजा सिंह द्वारा पैग़म्बर-ए-इस्लाम की शान में गुस्ताख़ी के ख़िलाफ़ सऊदी अरब (हरमैन शरीफ़ैन) ने बयान जारी कर शदीद लफ़्ज़ों में मज़म्मत किया है।

Wasim Akram Tyagi
@WasimAkramTyagi

भाजपा ने पैग़ंबर मोहम्मद पर अमर्यादित बयान देने वाले विधायक टी राजा सिंह को BJP से निलंबित कर दिया है. साथ ही इस फ्रिंज एलिमेंट को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है और 10 दिनों के अंदर जवाब देने को कहा गया है। तेलंगाना पुलिस ने टी राजा को गिरफ्तार भी कर लिया है।