विशेष

मालदीव एक तैरता हुआ शहर बनाने की योजना बना रहा है, जानिए, कैसा होगा तैरता शहर!

मालदीव एक तैरता हुआ शहर बनाने की योजना बना रहा है जो बढ़ते समुद्र की चुनौतियों का सामना कर सकेगा. जानिए, कैसा होगा तैरता शहर.

500 एकड़ में बनेगा तैरता शहर
पिछले दिनों मालदीव की सरकार और डच डॉकलैंड्स कंपनी ने समुद्र में तैरता शहर को बनाने के लिए करार किया था. यह शहर 500 एकड़ में बनाया जाएगा.

2030 तक तैयार होगा शहर
इस परियोजना के प्रमुख का कहना है कि इस तैरते शहर को 2030 तक पूरा कर लिया जाएगा.

आधुनिकता के साथ प्राकृतिक जीवन शैली
लैगून यानी समुद्र में झील का इलाका लगभग 500 एकड़ में फैला है. इस तैरते शहर में करीब 5000 घर होंगे.

दूसरे देश के लोग भी खरीद सकेंगे घर
इस तैरते शहर की खास बात यह है कि यहां दूसरे देश के लोग भी घर खरीद पाएंगे. सरकार को उम्मीद है कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

बढ़ते समुद्र स्तर का खतरा
नासा और यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के शोध के अनुसार ग्लोबल वार्मिंग की वर्तमान दर पर 2050 तक लगभग 80 प्रतिशत मालदीव निर्जन हो सकता है. ऐसा होने में बस 28 साल बचे हैं.

क्या क्या सुविधाएं होंगी
यातायात का प्रमुख साधन नाव होगी, जो समुद्र में बनाई गई नहरों पर चलेगी. यहां साइकिल और इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाने की इजाजत होगी.

नीदरलैंड्स की तकनीक का इस्तेमाल
यह तैरता शहर नीदरलैंड्स में बने फ्लोटिंग मकानों की तकनीक पर आधारित होगा. यहां होटल, रेस्तरां और खेल के मैदान भी तैयार किए जाएंगे.