दुनिया

Breaking : इराक़ की राजधानी बग़दाद में युद्ध जैसे हालात, जगह-जगह फ़ायरिंग, गोलाबारी : कम से कम 20 लोगों की मौत : वीडियो

समाचार लिखे जाने के वक़्त तक जो रिपोर्ट प्राप्त हो रही हैं, इराक की राजधानी में बड़े पैमाने पर गोलाबारी जारी है, लोग घरों से बाहर सड़कों पर उतर आये हैं, गलियों, सड़कों पर खुले आम फायरिंग हॉप रही है, सरकारी ठिकाओं को इसमें निशाना बनाया जा रही है, इराकी संगठनों से जुड़े लोगों ने पूरी राजधानी पर अपना कब्ज़ा जमा लिया है, अमेरिकी एम्बसी, ईरानी एम्बसी की इमारतों को निशाना बना कर हमले हुए हैं, इन हेलॉन में तक़रीबन 20 लोगों के मारे जाने की खबरें हैं

 

मुक़्तदा सद्र के एक एलान ने एक बार फिर इराक़ की राजनीतिक में भूचाल ला दिया है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, इराक़ में जारी राजनीतिक संकट के बीच सोमवार को सद्र धड़े के प्रमुख मुक़्तदा सद्र ने एलान किया कि वह हमेशा के लिए राजनीति से ख़ुद को अलग कर रहे हैं। मुक़्तदा सद्र के एलान के सामने आते ही इराक़ की राजनीति में तुफ़ान सा आ गया। वहीं मुक़्तदा सद्र के समर्थकों के लिए यह ख़बर अच्छी नहीं थी। वैसे सोमवार का दिन इराक़ के लिए कुछ अलग था क्योंकि मुक़्तदा सद्र के एलान से पहले इराक़ के वरिष्ठ धर्मगुरू आयतुल्लाह काज़िम हायरी ने एक बयान जारी करके कहा कि वह मरजए तक़लीद की ज़िम्मेदारी से ख़ुद को अलग कर रहे हैं। उन्होंने अपने एलान में कहा कि क्योंकि उनकी उम्र ज़्यादा हो गई है और यह एक बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है इसलिए वह ख़ुद को इस ज़िम्मेदारी से अलग कर रहे हैं। उन्होंने अपने अनुयाईयों से अपील की कि वे अब उनके स्थान पर ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामनेई की तक़लीद करें।

इस बीच आयतुल्लाह काज़िम हायरी ने ख़ुद को मरजए तक़लीद से अलग करते हुए जो बयान जारी किया है उसमें उन्होंने इराक़ के ताज़ा राजनीतिक संकट पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। आयतुल्लाह हायरी ने किसी का नाम लिए बिना ऐसे लोगों की आलोचना की जो इराक़ की राजनीति में लोगों के बीच मतभेद पैद कर रहे हैं। माना जा रहा है कि आयतुल्लाह हायरी के इस बयान से आहत होकर सद्र धड़े के प्रमुख मुक़्तदा सद्र ने ख़ुद को राजनीति से पूरी तरह अलग करने का एलान कर दिया। मुक़्तदा सद्र ने अपने अधीन चलने वाली तीन संस्थाओं को छोड़कर सदर पार्टी से जुड़ी सभी इकाईयों को भंग कर दिया है। ग़ौरतलब है कि सद्र धड़े के के अधिकांश सदस्य मरजए तक़लीद अयातुल्लाह सैयद काज़िम हुसैनी हायरी के अनुयायी थे।

इराक़ को राजनैतिक संकट से निकालने के लिए सद्र धड़े का नया प्रस्ताव

सद्र धड़े ने इराक़ को राजनीतिक संकट से बाहर निकालने के लिए एक नया प्रस्ताव पेश किया है।

सद्र धड़े के निकट समझे जाने वाले एक नेता सालेह मुहम्मद ने यह नया प्रस्ताव पेश किया है। उन्होंने कहा कि इराक़ी संसद को भंग करने और समय से पूर्व चुनाव कराए जाने से भी बेहरत एक समाधान मेरे पास है।

सालेह मुहम्मद अलएराक़ी ने कहा कि सन 2003 में अमरीका ने इराक़ पर हमला किया था उसके बाद के जितने भी राजनीतिक दल और राजनेता हैं उनको देश की राजनीति से अलग कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि यह प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्रसंघ के प्रस्ताव से भी अधिक महत्वपूर्ण है।

सालेह मुहम्मद ने दावा किया कि सद्र धड़ा इस प्रस्ताव पर 72 घण्टों के भीतर हस्ताक्षर कर देगा। हालांकि सद्र धड़े के नेता मुक़तदा सद्र की ओर से इस बारे में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। सद्र धड़े की ओर से यह नया प्रस्ताव एसी स्थति में आया है कि जब इराक़ के अधिकांश राजनेताओं ने समय से पूर्व चुनाव कराए जाने के बारे में वार्ता पर ज़ोर दिया है।

ज्ञात रहे कि इराक़ लंबे समय से राजनीतिक संकट से गुज़र रहा है।इराक़ में संसदीय चुनाव हुए अब 10 महीने होने को आ रहे हैं इसके बावजूद वहां के राजनैतिक दल इस देश के लिए नए राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का चयन नहीं कर पाए हैं। अब समय से पूर्व चुनाव जैसे विकल्प पर चर्चा हो रही है।