उत्तर प्रदेश राज्य

आगरा : श्वेत अश्वों के रथ पर सवार सिया ब्याहे चले भगवान श्रीराम, बराती बने लोग क्षूमे, देखें तस्वीरें : राहुल अग्रवाल की रिपोर्ट

Rahul Agarwal
================
राम बरात 2022: श्वेत अश्वों के रथ पर सवार सिया ब्याहे चले भगवान श्रीराम, बराती बने लोग क्षूमे, देखें तस्वीरें
उत्तर भारत की प्रख्यात श्रीराम बरात में शामिल होने के लिए बुधवार को बारिश भी भक्तों के कदम नहीं रोक सकी।

आगरा के अलावा फिरोजाबाद, मैनपुरी, इटावा, एटा, कासगंज, अलीगंज, भरतपुर, ग्वालियर से रामबरात देखने के लिए भक्त बड़ी संख्या में पहुंचे। राम संकीर्तन और रघुनंदन के भजनों पर बराती रात भर नाचते रहे।

लाला चन्नोमल की बारहदरी (मन:कामेश्वर गली, रावतपाड़ा) और उसके आसपास का क्षेत्र का नजारा अयोध्या नगरी सा दिखाई दिया। शाम ढलने के साथ ही पुराना शहर रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगा उठा। बारिश में भी दोपहर से ही लोगों का बारहदरी पर पहुंचना शुरू हो गया। बैंडबाजे बजने लगे। श्वेत अश्वों को देखने के लिए भक्तों की भीड़ घोड़ों के आसपास जमा होने लगी। बारहदरी के बाहर लगी झांकियों की कतारों में जब सतरंगी रोशनी जगमगाने लगी। इस बीच तो अलवर से प्रभु बरात में पहुंचे एसके अस्थाना ने जय श्रीराम का नारा लगा दिया। रघुवर का रथ आते ही बारिश शुरू हो गई। कुछ समय के लिए आयोजन रुका, लेकिन बारिश थमने के साथ ही वह समय भी आ गया जब प्रभु श्रीराम रथ पर विराजमान होने के लिए बारहदरी से निकले। बारहदरी से लेकर रथ पर विराजमान होने तक श्रीराम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न के स्वरूपों पर पुष्प वर्षा होती रही।

शोभायात्रा में आकर्षण का केंद्र
बुधवार रात आठ बजे चन्नोमल की बारहदरी पर श्री रामलीला महोत्सव कमेटी के अध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल, मंत्री राजीव कुमार अग्रवाल, जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने श्रीराम के स्वरूप की प्रथम आरती उतारी। इसके बाद शोभायात्रा में सबसे आगे चल रहे ऊंट काफी आकर्षक रहे। धर्म, समाज, शिक्षा, प्रभु श्रीराम के प्रबंधन, शिव-पार्वती की झांकी, मां लक्ष्मी का रजत रथ राम भक्तों को खूब पसंद आया।

मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की बरात का संचालन श्री रामलीला महोत्सव कमेटी के उपाध्यक्ष मनोज अग्रवाल के निर्देशन में आनंद मंगल, अंजुल बंसल, संजय तिवारी, मनोज हॉजरी, मोहित गोयल, रामांशु शर्मा, राहुल गौतम, मुकेश जौहरी, प्रकाश चंद ने किया। यात्रा में श्रीरामलीला कमेटी के अध्यक्ष पुरुषोत्तम खंडेलवाल, मंत्री राजीव कुमार अग्रवाल, मीडिया प्रभारी राहुल गौतम, दिलीप अग्रवाल, मनीष शर्मा, आलोक अग्रवाल, मनोज माहेश्वरी आदि शामिल रहे।


ऐरावत के रूप में दिखा श्रीराम का रथ
रामबरात में श्रीराम का रथ इंद्र के हाथी ऐरावत के रूप में दिख रहा था। लगभग 800 किलो के रथ पर छह श्वेत अश्व खूब भा रहे थे। लक्ष्मण का रथ शेषावतार के रूप में दिखाई दिया। भरत का रथ कमल और शत्रुघ्न का रथ में मोर पंख के फूल के आकार का था।

पहली बार नृत्य करेंगी कौशल्या
रामलीला महोत्सव कमेटी के मीडिया प्रभारी राहुल गौतम ने बताया कि रामबरात के इतिहास में पहली बार बृहस्पतिवार सुबह दयालबाग क्षेत्र में रानी कौशल्या की स्वरूप सपना मित्तल भी नृत्य करेंगी। उनके साथ रथ में आगे चल रहीं 101 सहेलियां भी रामधुन पर उनका साथ देंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.