देश

मवेशियों में फेले लम्पी वायरस रोग के उपचार में विप्र फ़ाउंडेशन दे रहा महत्वपूर्ण योगदान, राजस्थान से धर्मेन्द्र सोनी की रिपोर्ट

धर्मेन्द्र सोनी
===============
कुशलगढ़ जिला बांसवाड़ा राजस्थान रिपोर्टर धर्मेन्द्र सोनी
(मवेशियों में फेले लम्पी वायरस के रोग उपचार में विप्र फाउंडेशन दे रहा महत्वपूर्ण योगदान,
होम्योपैथिक दवा बनी मवेशियों के लिएं वरदान, सरकारे भले ही लाख दावे करे की हमारी सरकार ने मवेशियों में फेले लम्पी वायरस के ईलाज में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं, वही बांसवाड़ा जिले से रोज़ाना आते आकडे धरती पुत्रों के माथे पर चिंता की लकीरें साफ देखी जा सकती है राजस्थान सरकार भले ही लाख दावे करे की हमारी सरकार व पशुपालन विभाग लम्पी वायरस को लेकर पुरी तरह मुस्तेद है, लेकिन यह लम्पी वायरस दिनों-दिन एक गांव से दुसरे गाओ में दस्तक देता नजर आ रहा है वहीं इन मुक बधीर मवेशियों में फेले लम्पी वायरस के ईलाज के लिए विप्र फाउंडेशन ने अब कमान अपने हाथों में संभाल ली है, जेसे ही राजस्थान के बांसवाड़ा जिले सहित ग्रामीण क्षेत्रों में लम्पी वायरस की खबरें आने लगी तब से विप्र फाउंडेशन ने होम्योपैथिक दवा लाकर मवेशियों का उपचार करना शुरू किया है,जो सरहानिय है,

विप्र फाउंडेशन के कुशलगढ़ में हेमेंद्र पंडया हो चाहें छोटी सरवा के देव जोशी या फिर बड़ी सरवा के आंनद ने सहित विप्र फाउंडेशन के पुरे ज़िले में मवेशियों में फेले लम्पी वायरस के रोग उपचार हेतु निशुल्क होम्योपैथिक दवा देकर मवेशियों को बचाने का काम बखुबी ईमानदारी से निभा रहे हैं, खेड़ा धरती घाटा क्षेत्र के छोटी सरवा के समाज सेवी व विप्र फाउंडेशन के बेनर तले धरतीपुत्र देव जोशी के पास आते हे ज़हां से होम्योपैथिक दवा लेकर धरती पुत्र अपने मवेशियों को पिलाते हैं जिसके चलते मवेशी लम्पी वायरस के रोग से ठीक भी हो रहें हैं, प्राप्त जानकारी अनुसार विप्र फाउंडेशन ने सेकडो मवेशियों को दवाई निशुल्क उपलब्ध कराई गई है,इधर धरतीपुत्रों ने बताया कि यदी विप्र फाउंडेशन समय पर ईलाज हेतु दवाईयां उपलब्ध नहीं कराता तो क्षेत्र में अनेक पशु लम्पी वायरस की चपेट में आ कर दम तोड सकते थे, लेकिन विप्र फाउंडेशन की अच्छी पहल ने मुक बधीर मवेशियों के लिए समय पर ईलाज हेतु दवाईयां उपलब्ध कराई गई,जो अपने आप में एक अच्छी पहल है,

Leave a Reply

Your email address will not be published.