दुनिया

सऊदी अरब में मिला सोने का बड़ा ख़ज़ाना

रियाद : सऊदी अरब के पास कच्चे तेल का एक बड़ा भंडार मौजूद है जो उसके लिए किसी ‘खजाने’ से कम नहीं है। लेकिन अब इस खाड़ी देश में खोजकर्ताओं ने असली खजाना खोज निकाला है। जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ द किंगडम ऑफ सऊदी अरेबिया ने अल-मदीना अल-मुनव्वराह क्षेत्र में सोने और तांबे के नए अयस्क स्थलों की खोज की घोषणा की है। सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) ने इसकी जानकारी दी है। मदीना में अबा अल-राहा, उम्म अल-बराक शील्ड, हिजाज़ की सीमाओं के भीतर सोने के अयस्क की खोज की गई है। सऊदी अरब को उम्मीद है कि नई खोज निवेशकों को आकर्षित कर सकती है।

सियासत डेली की खबर के अनुसार इस क्षेत्र में यह खोज एक महत्वपूर्ण घटना है क्योंकि पहले यह माना जाता था कि उम्म अल-बराक शील्ड में सोने के अयस्क की कमी है। इन खोजों में सेकेंडरी कॉपर कार्बोनेट खनिज जैसे मैलाकाइट और अज़ूराइट शामिल हैं। अल अरबिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, नई खोजें स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित कर सकती हैं जिनकी कीमत 533 मिलियन डॉलर तक होने की उम्मीद है जिनसे 4000 नौकरियां पैदा हो सकती हैं।

सऊदी अरब में खुल सकते हैं निवेशकों के लिए अवसर
विश्लेषकों का कहना है कि नई खोजें सऊदी अरब में खनन को बढ़ावा दे सकती हैं और निवेश के आशाजनक अवसरों के लिए अधिक संभावनाएं खोल सकती हैं। सऊदी अरब सोने के सबसे बड़े धारक के रूप में दुनिया में 18वें स्थान पर है और अपने भंडार के मामले में अरब देशों में सबसे ऊपर है। सोने और तांबे की खोज देश के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के विजन 2030 के लिए सहायक होगी।

तेल पर आर्थिक निर्भरता को हटाना चाहते हैं MBS
MBS 2030 तक सऊदी अरब की तेल पर आर्थिक निर्भरता को दूसरी चीजों से बदलना चाहते हैं। सऊदी अरब के उद्योग एवं खनिज संसाधन मंत्री खालिद अल मुदेफेर ने जुलाई में बताया था कि पिछले साल सऊदी अरब के खनन उद्योग में 8 अरब डॉलर का विदेशी निवेश देखा गया। उन्होंने कहा कि खनन में निवेश को बढ़ावा देने के लिए कानून पारित होने के बाद विदेशी निवेश बढ़ा है। सऊदी अरब 2030 तक खनन क्षेत्र में 170 अरब डॉलर के निवेश की उम्मीद कर रहा है।

NBIA Media
@NbiaNewsagency
·
Sep 21
Saudi Arabia has announced the discovery of new sites for gold and copper ore deposits in the Madinah region.

Leave a Reply

Your email address will not be published.