राजस्थान राज्य

Congress : कांग्रेस की राजस्थान इकाई ने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने के लिए पारित किया प्रस्ताव

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने राहुल गांधी को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने के लिए रविवार को एक प्रस्ताव पारित किया. कांग्रेस ने पिछले महीने कहा था कि पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव 17 अक्टूबर को होगा. इसके नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किये जाएंगे.

Congress President Election: कांग्रेस सांसद राहुल गांधी इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा पर है. वहीं, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए चुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही पार्टी में सियासी हलचल भी तेज हो गई है. दरअसल, कांग्रेस के कई बड़े नेता राहुल गांधी को दोबारा से पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की बात कह रहे है. इसी कड़ी में राजस्थान कांग्रेस ने राहुल गांधी को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया है.

राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित

राजस्थान सरकार में मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने शनिवार को कहा कि प्रदेश कांग्रेस समितियों ने राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया है. संकल्प पारित किया गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की नियुक्त को लेकर जो भी निर्णय लिया जाएगा, हर कोई उसका पालन करेगा. राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करने के लिए सीएम अशोक गहलोत द्वारा एक और प्रस्ताव भी पारित किया गया है. जिसमें कहा गया कि कांग्रेस अध्यक्ष को आरपीसीसी और एआईसीसी प्रतिनिधियों के प्रदेश अध्यक्ष का चयन करना चाहिए. कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य रघुवीर मीणा ने उक्त प्रस्ताव को मंजूरी दी, जिसका प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोतसारा ने भी समर्थन किया.

भारत जोड़ो यात्रा को मिल रहा समर्थन

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी में राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सभी 400 नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों द्वारा सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव को प्रस्तुत करने के लिए उपरोक्त प्रस्ताव अब राज्य चुनाव अधिकारी राजेंद्र सिंह कुम्पावत को सौंप दिया गया है. डोतसारा ने नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों को बधाई देते हुए कहा कि राज्य में कांग्रेस को मजबूत करने वाले महत्वपूर्ण सदस्य प्रतिनिधियों के रूप में सामने आए हैं और शेष नेताओं को जल्द ही मनोनीत किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ी पदयात्रा निकाली है. राहुल गांधी की यात्रा को देश में दिन-ब-दिन समर्थन बढ़ रहा है और बाबा रामदेव जैसे आलोचक हैरान हैं और इसकी तारीफ कर रहे हैं.
राजस्थान में राहुल गांधी के साथ यात्रा में जुड़ेंगे हजारों कांग्रेसी

डोतसारा ने आगे बताया कि राहुल गांधी के कारवां के राजस्थान पहुंचने के बाद प्रदेश में हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ता और आम लोग यात्रा में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि पूर्व में भी राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने पीसीसी प्रतिनिधियों का एक सत्र आयोजित कर राजस्थान सरकार को जन भावनाओं से अवगत कराया था और मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में पारित प्रस्तावों के अनुसार राजस्थान के बजट की घोषणा की थी. उन्होंने कहा कि नवनिर्वाचित आरपीसीसी प्रतिनिधियों का सत्र शीघ्र ही आयोजित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सभी कांग्रेसी अपनी पूरी ताकत से राज्य में एक साथ काम करेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि 2023 में राजस्थान में कांग्रेस फिर से सत्ता में आए.
मोदी सरकार को विदाई सुनिश्चित करने के लिए काम करेंगे कांग्रेसी

राजस्थान प्रदेश के कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में सभी कांग्रेसी सरकार बनाकर मोदी सरकार को विदाई देना सुनिश्चित करेंगे. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अजय माकन ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा में अधिक से अधिक संख्या में प्रतिभागियों को सुनिश्चित करना राजस्थान कांग्रेसियों की जिम्मेदारी है, क्योंकि ऐसे समय में जब देश महंगाई, बेरोजगारी से जूझ रहा है, राहुल गांधी देश में 3,500 किलोमीटर का लंबा सफर तय कर रहे हैं. वहीं, अशोक गहलोत ने कहा कि पार्टी ने अब तक विभिन्न बाधाओं को पार किया है और अधिक शक्तिशाली बनकर उभरी है. राहुल गांधी के नेतृत्व वाली भारत जोड़ी यात्रा पूरे देश को एक सूत्र में बांधने का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि सभी व्यक्तिगत मतभेदों को भूलकर, हमें 2023 में एक बार फिर राजस्थान में पार्टी के झंडे को मजबूत करने और सरकार बनाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.