देश

Congress President Elections : अशोक गहलोत ने कहा- ‘अगर राहुल गांधी नहीं मानें तो वह लड़ेंगे’

अशोक गहलोत बुधवार को दिल्ली में सोनिया से मिलेंगे और गुरुवार को राहुल गांधी से मिलने के लिए केरल जाएंगे और उन्हें आखिरी बार चुनाव लड़ने और कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में वापस आने के लिए मनाने के लिए कहेंगे.अशोक गहलोत ने नामांकन पत्र दाखिल करने की स्थिति में सभी विधायकों को दिल्ली आने का न्योता भी दिया

Congress President Elections: कांग्रेस अध्यक्ष पद ले लिए चुनाव की प्रक्रिया अक्टूबर में तय किया गया है और इसके लिए नामांकन प्रक्रिया 24 सितंबर से शुरू होगी. बता दें कि राहुल गांधी ने इस बार अध्यक्ष पद लेने से इनकार कर दिया है. अब ऐसे में इस बार अध्यक्ष पद का चुनाव काफी रोचक दिख रहा है. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार दोपहर 12 बजे कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. उन्होंने यह साफ संकेत दिये है कि राहुल गांधी के चुनाव नहीं लड़ने की स्थिति में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ने का मन बना लिया है

अशोक गहलोत गांधी परिवार के काफी करीबी

बता दें कि जैसे ही पार्टी नेतृत्व ने संकेत दिया कि कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी सहित गांधी परिवार का कोई भी सदस्य इस चुनाव में हिस्सा नहीं ले रहे है और खुद को इस पद के चुनाव से तटस्थ रखेंगे वैसे ही अशोक गहलोत के चुनाव लड़ने की बातों पर मुहर सी लग गयी. बता दें, कि अशोक गहलोत गांधी परिवार के काफी करीबियों में से है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गहलोत 26 सितंबर के बाद अपना नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं

गहलोत ने विधायकों की बैठक बुलायी

अशोक गहलोत ने मंगलवार शाम कांग्रेस विधायकों की एक औचक बैठक बुलायी. गहलोत ने कहा कि वह एक वफादार पार्टी के व्यक्ति हैं और नेतृत्व जो भी निर्णय लेगा, उसका पालन करेगा. उन्होंने उनसे कहा कि वह बुधवार को दिल्ली में सोनिया से मिलेंगे और गुरुवार को राहुल गांधी से मिलने के लिए केरल जाएंगे और उन्हें आखिरी बार चुनाव लड़ने और कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में वापस आने के लिए मनाने के लिए कहेंगे. गहलोत ने नामांकन पत्र दाखिल करने की स्थिति में सभी विधायकों को दिल्ली आने का न्योता भी दिया

शशि थरूर ने भी सोनिया गांधी से मुलाक़ात की

कोच्चि में राहुल गांधी से मिलने की अपनी योजना का खुलासा करते हुए उन्होंने बैठक में कहा कि अगर राहुल गांधी सहमत नहीं हैं और अगर पार्टी मुझसे कुछ करने के लिए कहती है और अगर मुझे फॉर्म भरना है तो मैं आप सभी को (नामांकन दाखिल करने के लिए) बुलाऊंगा. उन्होंने विधायकों से यह भी कहा कि वह राजस्थान से कभी दूर नहीं रहेंगे. हालांकि इस बार चुनाव के लिए शशि थरूर ने भी अपनी दावेदारी पेश करते हुए सोनिया गांधी से मुलाक़ात किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.