देश

Jharkhand Crime News : पाकिस्तानी नागरिक ने जमशेदपुर के शख्स की कतर में की बेरहमी से हत्या

जमशेदपुर के गोलमुरी में रहने वाले एक शख्स का हत्या का मामला सामने आया है. दरअसल गोलमुरी के इमामुद्दीन की पाकिस्तानी नागरिक ने बेरहमी से हत्या कर दी. इसके बाद शव को बोरे में डालकर सेप्टिक टैंक में फेंक दिया

जमशेदपुर: अरब प्रायद्वीप के देश कतर में गोेलमुरी के इमामुद्दीन की पाकिस्तानी नागरिक ने बेरहमी से हत्या कर दी. उनका शव फ्लैट के सेप्टिक टैंक से बरामद किया गया है. कतर की कास्को स्टील में कार्यरत रहे मोहम्मद इमामुद्दीन की हत्या उनके फ्लैट में पीजी के रूप में रहने वाले पाकिस्तानी नागरिक ने की थी. उसने पहले इमामुद्दीन को गला दबाकर मारा, फिर गला काट दिया

हत्या के बाद शव को बोरे में डालकर सेप्टिक टैंक में फेंक दिया. पुलिस ने पाकिस्तानी रूम पार्टनर को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर शव बरामद कर लिया है. जानकारी के मुताबिक, उनका अंतिम संस्कार करत में ही होगा, क्योंकि पुलिस ने शव देने से इनकार कर दिया है. मोहम्मद इमामुद्दीन का पता लगाने में कतर में रहने वाले जमशेदपुर के लोगों ने भी सहयोग किया. मोहम्मद इमामुद्दीन के भाई मानगो जहुर बागान एरिया में रहते हैं. मोहम्मद इमामुद्दीन टिनप्लेट कंपनी में क्रेन ऑपरेटर थे. वीआरएस लेने के बाद उन्होंने कतर में कास्को ज्वाइन कर लिया था

फोन पर बातचीत बंद होने पर पत्नी को संदेह हुआ. वह दोनों बेटों के साथ कतर पहुंची और पति की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी.

मोहम्मद इमामुद्दीन का पता लगाने में कतर में रहने वाले जमशेदपुर के लोगों ने भी किया सहयोग

मोहम्मद इमामुद्दीन टिनप्लेट कंपनी में क्रेन ऑपरेटर थे, वीआरएस लेने के बाद कतर में ज्वाइन कर लिया था कोस्को
पत्नी बोली-12 सितंबर से नहीं हो रही थी बात

मोहम्मद इमामुद्दीन की पत्नी तरन्नुम ने कतर पहुंचकर पुलिस को बताया कि 12 सितंबर से पति से फोन पर बात नहीं हो रही थी. उनका फोन नहीं लग रहा था. अनहोनी की आशंका होने पर वह कतर पहुंची. पुलिस ने कमरे में जांच की तो खून के दाग व दुर्गंध मिले. इसके बाद रूम में रहने वाले पाकिस्तानी नागरिक से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की. इसके बाद उसने हत्या किये जाने की बात स्वीकारी. उसकी निशानदेही पर पुलिस ने सेप्टिक टैंक से शव बरामद कर लिया. इमामुद्दीन की हत्या क्यों की गयी? इसका पता पुलिस लगा रही है.
कास्को से हटाये जाने के बाद रखा था रूम पार्टनर

कास्को ने कई कर्मचारियों को काम से हटा दिया था. इसमें इमामुद्दीन शामिल थे. उस समय वह फ्री वीजा लेकर कतर में रह गये और ठेकेदारी में काम करने लगे. कतर में उनके साथ पत्नी व बच्चे भी थे. पत्नी और बच्चे के जमशेदपुर आने पर वह कमरे में किराया समाहित करने के लिए पीजी के रूप में पाकिस्तानी मूल के व्यक्ति को रखा लिया था.
विदेशों में जमशेदपुर के लोगों की हो चुकी है हत्या

इंग्लैंड में बिरसानगर के प्रभजोत सिंह की हत्या कर दी गयी थी. इसके अलावा फिलीपींस के ताई-ताई में सीतारामडेरा के तरणजीत सिंह की भी गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.