उत्तर प्रदेश राज्य

Breaking : गाज़ीपुर सिटी से दिल्ली जा रही सुहेलदेव एक्सप्रेस प्रयागराज जंक्शन पर पटरी से उतर गई : रिपोर्ट

गाजीपुर सिटी से दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल जा रही सुहेलदेव एक्सप्रेस मंगलवार रात प्रयागराज जंक्शन पर पटरी से उतर गई। जंक्शन के दिल्ली आउटर पर हादसा रात 8.50 बजे के आसपास हुआ। इस दौरान ट्रेन का इंजन और उसके पीछे जनरेटर यान पटरी से उतरा। राहत की बात यह रही कि इस हादसे में कोई यात्री हताहत नहीं हुआ। इस बीच सूचना पाकर डीआरएम हिमांशु बडौनी एवं अन्य अफसर मौके पर पहुंच गए। हादसे को लेकर रेलवे ने जांच भी बिठा दी है।

सुहेलदेव एक्सप्रेस मंगलवार की रात 8.25 बजे प्रयागराज जंक्शन के प्लेटफार्म नंबर नौ पर पहुंची। अपने निर्धारित ठहराव के बाद ट्रेन कानपुर की ओर चली। जंक्शन के दिल्ली आउटर पर ट्रेन अभी पहुंची ही थी कि अचानक तेज आवाज आई। इस दौरान लोगों ने वहां धूल का गुबार उड़ता देखा। मौके पर जाकर देखा गया तो मालूम पड़ा कि सुहेलदेव का इंजन और उसके पीछे का कोच पटरी से उतर गया है।

 

घटना के बाद वहां सायरन बजना शुरू हो गया। सायरन की आवाज सुनते ही रेलवे के तमाम अफसर हादसे वाले स्थान की ओर भागे। कंट्रोल रूम को जानकारी मिलते ही डीआरएम हिमांशु बडौनी एवं अन्य वरिष्ठ अफसर प्रयागराज जंक्शन पहुंच गए। कंट्रोल रूम के निर्देश पर एक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन (एआरटी ) भी मौके पर पहुंच गई।

इस दौरान कुछ देर के लिए दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर रेल संचालन को रोक दिया गया। हालांकि मामला ज्यादा गंभीर न होने की वजह से बाद में दिल्ली-हावड़ा रूट ट्रेनों के आवागमन के लिए खोल दिया गया। बताया जा रहा है कि घटना के समय ट्रेन की गति बहुत धीमी थी। अगर स्पीड ज्यादा होती तो वहां बड़ी घटना हो सकती थी।

जंक्शन पर अलग किया गया इंजन और एक कोच
सुहेलदेव एक्सप्रेस का इंजन और एक कोच ही पटरी से उतरे जाने की वजह से उन्हें काटकर अलग कर दिया गया। रात सवा दस बजे तक बाकी बची हुई ट्रेन वापस प्लेटफार्म पर भेज दी गई। इस बीच जंक्शन से प्रयागराज एक्सप्रेस, रीवा एक्सप्रेस, महाबोधि एक्सप्रेस आदि ट्रेनों को निकाला गया।

ट्रेन के बाहर उतर गए यात्री, भगवान को किया धन्यवाद
सुहेलदेव एक्सप्रेस ट्रेन के पटरी से उतरने के बाद उसमें बैठे तमाम यात्री बाहर उतर गए। जौनपुर से आनंद विहार जा रहे सुरेंद्र सिंह ने बताया कि वह जेनरेटर यान के बगले वाले कोच में ही थे। जब हादसा हुआ तो तेज आवाज आई। पहले तो कुछ समझ में नहीं आया, लेकिन नीचे उतरकर देखा तो सारी स्थिति के बारे में जानकारी हुई। इसी तरह ट्रेन में गाजीपुर से आ रहे विवेक अग्रवाल ने बताया कि जब ट्रेन पटरी से उतरी तो कुछ आवाज आई और हल्का झटका भी लगा। हम सभी लोगों पर भगवान की कृपा रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। इसी तरह आनंद विहार जा रहे प्रयागराज के रमाशंकर यादव ने कहा कि भगवान का लाख-लाख शुक्र है कि सिर्फ एक ही कोच पटरी से उतरा।

सुहेलदेव रात 11:35 बजे आनंद विहार के लिए रवाना, हमसफर एक्सप्रेस हो गई लेट
हादसे के बाद दिल्ली आउटर से प्लेटफार्म नंबर छह पर आने वाला रेल ट्रैफिक ब्लॉक हो गया। इस वजह से प्रयागराज -नई दिल्ली हमसफर एक्सप्रेस रात सवा 11 बजे के बाद रवाना हो सकी। वहीं नया इंजन जोड़े जाने के बाद सुहेलदेव एक्सप्रेस रात 11.35 पर आनंद विहार के लिए रवाना हुई।

घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है। घटना किस कारण हुई इसके लिए जांच बैठाई जा रही है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही यह स्पष्ट हो सकेगा की ट्रेन में बेपटरी क्यों हुई। जंक्शन पर अन्य ट्रेनों का यातायात सामान्य है।
-डॉ. अमित मालवीय, सीनियर पीआरओ, उत्तर मध्य रेलवे