ब्लॉग

पाकिस्तान की हाँ या ना में दुनियां के फ़ैसले हो रहे हैं, भारत कहाँ है?

    अफ़ग़ानिस्तान में दुनियां की सुपर पॉवर और तमाम बड़े ताकातवर देश जंग लड़ रहे हैं, अमेरिका ने अफ़ग़ानिस्तान से निकलने का जबसे ऐलान किया है वहां की राजनीती बेहद तेज़ रफ़्तार के साथ बदल रही है, अफ़ग़ानिस्तान में अमेरिका के बीस साल के कब्ज़े के दौरान अनेक अमेरिकी मित्र देशों ने अफ़ग़ानिस्तान में […]

ब्लॉग

बुश सामूहिक हत्यारा है, उसकी जगह जेल है : उसे और उसकी मंडली को दंडित किया जाना चाहिये : अलजज़ीरा

अलजज़ीरा की वेबसाइट ने एक लेख प्रकाशित किया है जिसमें लेखक ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश के क्रियाकलापों की कड़ी आलोचना की है। लेखक एंड्रो मिट्रोविका ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बारे में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश के हालिया दृष्टिकोणों की कड़ी आलोचना करते हुए लिखा […]

ब्लॉग

मोहन भागवत चाहे कुछ भी कहें लेकिन डी एन ए एक होने से मुस्लिम और हिन्दू का फ़र्क़ मिटाया नहीं जा सकता!

Mohd Sharif ================== क़ुरआन पाक की 95 वीं सूरह की चौथी व पांचवीं व छठी आयतों में फ़रमाया गया है, अनुवाद, “हमने इंसान को बेहतरीन साख़्त पर पैदा किया, फिर उसे उल्टा फेर कर हमने सब नीचों से नीच कर दिया, अलावा उन लोगों के जो ईमान लाए और नेक अमल करते रहे कि उन […]

ब्लॉग

बुद्धिजीवियों के बारे में…!!!!

Kavita Krishnapallavi ================ जैसे-जैसे समझदारी बढ़ती जाती है, बौद्धिक समाज में आपकी दोस्तियाँ घटती जाती हैं! आप जब लोगों को बेहतर समझने लगते हैं तो बहुतेरे लोगों से दूरी बरतने लगते हैं (वे मूर्ख और घमण्डी हो सकते हैं, या धूर्त, स्वार्थी और मौक़ापरस्त), लेकिन इससे भी अधिक यह होता है कि बहुतों को जब […]

ब्लॉग

और किसी छोटे से शहर या कस्बे में कचहरी के बाहर सांडे का तेल और इत्र बेच रहे हैं!

Kavita Krishnapallavi ========== * अगर आलोचना के छोले-भटूरे और अखबारी समीक्षाओं का चना जोर गरम बेचने वालों की यह घोषणा सही है कि यह हिन्दी कविता का ‘अलाँ-फलाँ या ढिमका युग’ है, तो इस युग से ही मेरा नाम काट दो! शहर क़ाज़ी की अदालत में मैं यह हलफ़नामा दाख़िल कर दूँगी कि अब ताज़िन्दगी […]

ब्लॉग

पूँजीवादी किसान, पूँजीवादी ज़मींदार, आढ़तिये, व्यापारी और बिचौलिये किस तरह गाँव के ग़रीबों को लूटते हैं?

*हमारे देश में क़रीब 25 करोड़ लोग खेती में लगे हैं। इसमें से क़रीब 14.5 करोड़ खेतिहर मज़दूर हैं और 10.5 करोड़ किसान हैं। लेकिन किसान कोई एक वर्ग नहीं होता है। धनी किसान होते हैं, उच्च मध्यम किसान, मध्य मध्यम किसान, निम्न मध्यम किसान होते हैं और ग़रीब व सीमान्त किसान होते हैं।* आम […]

ब्लॉग

मोदी-शाह सरकार के अंधाधुंध दमन की कार्रवाइयों के ख़िलाफ़ और तमाम काले क़ानूनों के ख़िलाफ़ संगठित होना एक फ़ौरी ज़रूरत है

Kavita Krishnapallavi =============== (साथियो! फ़ादर स्टेन की जुडीशियल और सांस्थानिक हत्या की पृष्ठभूमि में, देश में गहराते फ़ासिस्ट दमन-चक्र और जनवादी अधिकार आन्दोलन के पुनर्गठन की चुनौतियों पर कात्यायनी ने जो संवाद शुरू किया था, उसकी दूसरी कड़ी प्रस्तुत है। फेसबुक की मेहरबानी से इन दिनों मेरी पोस्ट्स बहुत कम लोगों की निगाह में आ […]

ब्लॉग

बंद कमरे में तुम्हारी चोटी कट जाती हैं! तुम विश्वगुरु के अहंकार की दारू पीकर साम्प्रदायिकता की नाली में पड़े हो!

मुदित मिश्र ================ आप पायजामे से पतलून पर आ गये…नाड़े से बेल्ट पर आ गये…खड़ाऊँ से बूट पर आ गये…कलम से कीबोर्ड पर आ गये। पगडंडियों से एक्सप्रेस वे पर आ गये…चूल्हे से इंडक्शन कुकर पर आ गये…जंगलो से अपार्टमेंट तक आ गये। हल से ट्रैक्टर पर आ गये…पैदल से लक्ज़री जहाज़ों पर आ गये…दीये-मशाल […]

ब्लॉग

अब उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों के चुनाव नज़दीक आ रहे हैं, फिर से धर्म, धर्म स्थल और देवी देवता ख़तरे में पड़ने वाले हैं!

धर्म के नाम पर आग लगाती राजनीति, रोटी सेकते टीवी चैनल, दर-दर भटकती जनता, फिर भी है सब कुछ अच्छा भारत एक ऐसा महान देश है जिस देश में दुनिया के सभी धर्मों के लोग एक साथ जीवन व्यतीत करते हैं। एकता और एकजुटता इस देश को महान बनाती है। बल्कि यूं कहा जाए तो […]

ब्लॉग

यूपीएटीएस ने #ISI से फ़ण्डिंग की ‘कहानी’ गढ़कर मौलाना उमर गौतम और मौलाना जहांगीर क जेल भेज दिया है!

Wasim Akram Tyagi =============== मौलाना उमर गौतम यूपी के फतेहपुर के रहने वाले हैं वे पहले ग़ैर मुस्लिम थे, उन्होंने इस्लाम धर्म अपनाया और फिर Islamic Dawah Centre शुरू कर दिया। आज उन्हें यूपीएटीएस ने धर्म परिवर्तन कराने के आरोप में जेल भेजा है। धर्म परिवर्तन करना अपराध नहीं हां बलात धर्मपरिवर्तन कराना अपराध है। […]