इतिहास

पुरानी दिल्ली चावड़ी बाज़ार की ऐतिहासिक “मस्जिद मुबारक़ बेग़म”!

पुरानी दिल्ली चावड़ी बाजार की ऐतिहासिक “मस्ज़िद मुबारक़ बेग़म” का मेन गुम्बद बारिश की वजह से ढह गया। मुग़ल सल्तनत के वक़्त ये जगह शाहजहांनाबाद का हिस्सा हुआ करता था। मुग़ल बादशाह औरंगजेब के हुक़ूमत में नाच गानों पर लगी पाबन्दी उनके वफ़ात के बाद मुहम्मद शाह रंगीला के वक़्त में इस जगह पर तवायफ़ […]

इतिहास

शेरशाह ने भरे दरबार मे एक बादशाह होते हुए भी बिना हिचकिचाहट के जायसी से मुआफ़ी मांगी थी…..

जब पद्मावती लिखने वाले मलिक मोहम्मद जायसी से शेर शाह सूरी को भरे दरबार मे मुआफ़ी मांगनी पड़ी मलिक मोहम्मद जायसी यूपी के जायस (रायबरेली) में पैदा हुए एक सूफी थे जो पद्मावत के लिए जाने गए जो कि उनकी कल्पना पे आधारित थी। पद्मावत 1540 में लिखी गयी जबकि ख़लजी ने राजा रतनसिंह पर […]

इतिहास

भारत का इतिहास : वैदिक काल- 1500–500 ई.पू : आर्यो का आगमन काल : पार्ट 7

वैदिक काल ========== सिंधु सभ्यता के पतन के बाद जो नवीन संस्कृति प्रकाश में आयी उसके विषय में हमें सम्पूर्ण जानकारी वेदों से मिलती है। इसलिए इस काल को हम ‘वैदिक काल’ अथवा वैदिक सभ्यता के नाम से जानते हैं। चूँकि इस संस्कृति के प्रवर्तक आर्य लोग थे इसलिए कभी-कभी आर्य सभ्यता का नाम भी […]

इतिहास

भारत का इतिहास : हड़प्पा संस्कृति 1700-1300 ई.पू : पार्ट 6

हड़प्पा ========== हड़प्पा मुहर पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त में स्थित ‘माण्टगोमरी ज़िले’ में रावी नदी के बायें तट पर यह पुरास्थल है। हड़प्पा में ध्वंशावशेषों के विषय में सबसे पहले जानकारी 1826 ई. में ‘चार्ल्स मैन्सर्न’ ने दी। 1856 ई. में ‘ब्रण्टन बन्धुओं’ ने हड़प्पा के पुरातात्विक महत्त्व को स्पष्ट किया। ‘जॉन मार्शल’ के निर्देशन […]

इतिहास

मलिक खिज़ार हयात तिवाना स्वतंत्रता पूर्व औपनिवेशिक काल में पंजाब राज्य के दो बार प्रधानमंत्री रहे!

Sunny Sokhi ========= 1942 से 1947 तक पंजाब के प्रीमियर मलिक खीज़ार हयात तिवाना, जिन्होंने अंत तक दो राष्ट्रीय सिद्धांतों का विरोध किया, 7 अगस्त 1900 को पैदा हुआ, मलिक खिज़ार तिवाना ने पंजाब और भारत और पाकिस्तान के विभाजन का विरोध किया स्वतंत्र पंजाब का एक हिस्सा, स्वतंत्र पंजाब के अस्तित्व को पुनर्स्थापित करने […]

इतिहास

भाटी राजपुतों का जैसलमेर और जैसलमेर का *नाचने* गाँव!!

जैसलमेर का क्षेत्रफल 38401 किलोमीटर है जो छेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का सबसे बड़ा जिला है यह है अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ भी सर्वाधिक लंबी सीमा बनाता है यह अंतरराष्ट्रीय सीमा भारत-पाकिस्तान की सीमा रेखा रेडक्लिफ के नाम से जानी जाती है जैसलमेर जिले में 4 तहसील है। जैसलमेर जिले में पालीवाल ब्राह्मणों द्वारा […]

इतिहास

महान मुग़ल बादशाह शाहजहाँ की निजी कटार 13 करोड़ रुपए में लंदन में नीलाम हुई है….

Syed Faizan Siddiqui =========== प्राचीन कलाकृतियों की नीलामी करने वाली नामी गिरामी कंपनी बोन्हैम्स का कहना है कि इस कटार की बोली अनुमान से तीन गुना अधिक लगाई गई है. शाहजहाँ की कमर में बंधा रहने वाला खंजर 1630 का है यानी 378 वर्ष पुराना. इस कटार पर शाहजहाँ का नाम, उनका जहाँपनाह का ओहदा, […]

इतिहास

भारत का इतिहास : सिन्धु घाटी सभ्यता- 3300-1700 ई.पू : पार्ट 5

सिंधु घाटी सभ्यता =============== विवरण सबसे पहले 1927 में ‘हड़प्पा’ नामक स्थल पर उत्खनन होने के कारण ‘सिन्धु सभ्यता’ का नाम ‘हड़प्पा सभ्यता’ पड़ा। पर कालान्तर में ‘पिग्गट’ ने हड़प्पा एवं मोहनजोदड़ों को ‘एक विस्तृत साम्राज्य की जुड़वा राजधानियां‘ बतलाया। खोज का श्रेय इस अज्ञात सभ्यता की खोज का श्रेय ‘रायबहादुर दयाराम साहनी’ को जाता […]

इतिहास

भारत का इतिहास : मेहरगढ़ संस्कृति 7000-3300 ई.पू : पार्ट 4

मेहरगढ़ ========= मेहरगढ़ उस स्थान पर स्थित है, जहाँ सिंधु नदी के कछारी मैदान और वर्तमान पाकिस्तान और ईरान के सीमांत प्रदेश के पठार मिलते हैं। इस प्रकार मेहरगढ़ पाक़िस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में ‘बोलन दर्रे’ के निकट स्थित है। यहाँ से कृषक समुदाय के उद्भव के भारतीय उपमहाद्वीप में सबसे प्राचीन प्रमाण प्राप्त हुए […]

इतिहास

15 जुलाई का इतिहास : 15 जुलाई 1912 को नौशेरा का शेर ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान का जनम हुआ : नेहरू ने दी थी अंतिम विदाई!

ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 15 जुलाई वर्ष का 196 वाँ (लीप वर्ष में यह 197 वाँ) दिन है। साल में अभी और 169 दिन शेष हैं। 15 जुलाई की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ ================ 1999 – चीन द्वारा न्यूट्रान बम की क्षमता हासिल करने की स्वीकारोक्ति। 2000 – सिएरा लियोन में सैन्य कार्यवाही द्वारा सभी भारतीय सैनिक […]