देश

CM भगवंत मान प्लेन से नशे की हालत में उतारे गए? जांच की मांग पर जानिए सिंधिया का जवाब

भगवंत मान सोमवार को जर्मनी से अपनी आठ दिवसीय यात्रा के बाद भारत लौटे जहां वह विभिन्न क्षेत्रों में निवेश प्रस्ताव आमंत्रित करने गए थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मान को यहां फ्रैंकफर्ट से दिल्ली जाने वाली लुफ्थांसा की फ्लाइट से नशे में होने के कारण उतार दिया गया

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर दिल्ली जाने वाली उड़ान से उतारे जाने का मामले ने अब तूल पकड़ ली है. भगवंत मान पर भाजपा समेत कई विपक्षी दल अपने सवालों से घेरने की कोशिश कर रहे हैं. इस बीच केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि यह घटना जर्मनी में घटी है, पहले तथ्यों की जांच करनी होगी. उन्होंने कहा कि मुझे जांच के लिए कई अनुरोध किए गए हैं, जिसपर निश्चित रूप से गौर करूंगा

विपक्षी दलों ने लगाया ये आरोप

भगवंत मान सोमवार को जर्मनी से अपनी आठ दिवसीय यात्रा के बाद भारत लौटे जहां वह विभिन्न क्षेत्रों में निवेश प्रस्ताव आमंत्रित करने गए थे. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मान को यहां फ्रैंकफर्ट से दिल्ली जाने वाली लुफ्थांसा की फ्लाइट से नशे में होने के कारण उतार दिया गया. इधर, विपक्षी पार्टी शिरोमणि अकाली दल ने भी मुख्यमंत्री मान पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया था कि नशे में होने के कारण उन्हों फ्लाइट से उतारा गया था. हालांकि आम आदमी पार्टी इस आरोप को अब तक खारिज करती रही है

शिअद ने की जांच की मांग

शिअद के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने अपने एक ट्वीट में कहा है कि मान पर आरोप लगाते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण देने की जरूरत है. उन्होंने कहा, भारत सरकार को भी कदम उठाना चाहिए क्योंकि इसमें पंजाबी और राष्ट्रीय गौरव की बात है. यदि उन्हें विमान से उतारा गया था, तो भारत सरकार को अपने जर्मन समकक्ष के साथ इस मुद्दे को उठाना चाहिए.

आप ने आरोप को किया खारिज

आम आदमी पार्टी ने इस घटना को महज एक अफवाह बताया है. पार्टी की ओर से जारी एक बयान के अनुसार मुख्यमंत्री मान को फ्रैंकफर्ट हवाई अड्डे पर दिल्ली जाने वाली उड़ान से नहीं उतारा गया था. आप ने इस आरोप को निराधार बताते हुए एक जानीतिक साजिश बताया है. वहीं, पंजाब सीएमओ के अधिकारियों के अनुसार मुख्यमंत्री भगवंत मान की अचानक तबीयत खराब हो गई थी, जिस कारण वे विमान में नहीं चढ़ सके थे