मध्य प्रदेश राज्य

#MadhyaPradeshElection2023 : मतगणना से 4 दिन पहले पोस्टल बैलेट के पैकेट खोलने के मामले में ARO सस्पेंड….!!

 

 

TRUE STORY
@TrueStoryUP
#MadhyaPradeshElection2023
मतगणना से 4 दिन पहले पोस्टल बैलेट पैकेट खोलने के मामले में ARO सस्पेंड….

@ECISVEEP
ने उठाया कदम..
@INCIndia

ने DM के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठाई

MP : मध्य प्रदेश के बालाघाट में मतगणना से पहले स्ट्रॉन्ग रूम में डाक मतपत्रों की पेटी खुलने के मामले पर सियासत गर्मा गई है। एआरओ हिम्मत सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। कलेक्टर गिरीश कुमार मिश्रा ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को इस मामले में अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। कांग्रेस इस मामले में हमलावर बनी हुई है और बालाघाट कलेक्टर को हटाने की मांग की है।

सोमवार को कांग्रेस
@INCMP
ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था। साथ ही मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से बालाघाट में स्ट्रॉन्ग रूम खोलकर डाक मतपत्रों में हेराफेरी का आरोप लगाया था। इस मामले में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ
@OfficeOfKNath

ने बालाघाट कलेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं, भाजपा
@BjpMadhyaPrade2
के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी इस मामले को लेकर जानकारी मंगवाई है।

एआरओ के निलंबन को लेकर कांग्रेस के मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा ने सवाल उठाए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि बालाघाट में डाक मत्रपत्रों को समय से पहले स्ट्रॉन्ग रूम खोलकर 50-50 की गड्डियां जमाने का मामला सामने आया है। नोडल अधिकारी को सस्पेंड किया गया है। इस मामले में रिटर्निग अफसर ने अपराध स्वीकार किया? क्या इतनी बड़ी साजिश के लिए सिर्फ एक नोडल अफसर ही जिम्मेदार है? मिश्रा ने कहा कि कलेक्टर को मतगणना से दूर किया जाए। यह एक गंभीर अपराध है। इस अभियोग में दोषी पाए जाने पर कलेक्टर को गिरफ्तार किया जाए। वहीं, कांग्रेस नेता जेपी धनोपिया ने कहा कि बालाघाट में हुए डाक मतपत्रों के घोटाला मामले में कलेक्टर डॉ गिरीश कुमार मिश्रा को तत्काल हटाया जाए।