विशेष

RSS का आतंकवाद : हिंदुस्तान में रहना है तो ”मोदी-योगी” कहना है, कहते हुए RPF जवान ”चेतन” ने 3 मुस्लिम और एक मीणा आदिवासी की हत्या कर दी : वीडियो और रिपोर्ट

Priya singh
@priyarajputlive

हिंदुस्तान में रहना है तो मोदी-योगी कहना है” ये कहते हुए RPF के जवान ने जयपुर-मुंबई ट्रेन में 4 लोगों की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी। आखिर ऐसे लोगों को मानसिक बीमार बनाने का जिम्मेदार कौन है.

Sachin Pilot
@Sachinnpilot_

देश के हवाओं में ऐसा जह*र घोल दिया है के
RPF का चेतन सिंह नामक जवान 4 लोगों को जयपुर – मुंबई ट्रेन में गो”ली मार कर हत्या कर देता है.

•कारण है एक समुद|य विशेष से नफरत.

• हत्या उपरांत कहता है:- देश में रहना है तो मोदी – योगी कहना होगा.

https://twitter.com/i/status/1686029393603203073

Puneet Kumar Singh
@puneetsinghlive
ट्रेन में RPF जवान ने नफरत के चलते 4 लोगों को मौत के घाट उतार दिया, उसने जिन 3 मुसलमानों की हत्या की उसमें उसने कहा तुम सब पाकिस्तान से ऑपरेट होते हो. ये सब बात मीडिया में आती है!

गोदी गिद्धों की नफरत के चलते लोगों का माइंड डाइवर्ट हो रहा है, लोग भक्तयी में इस कदर लीन है कि लोगों की वर्दी में रहते हत्या कर रहे है.

गोदी गिद्धों शर्म करो और अब करो इसपर डिबेट!

रक्षक भक्षक बनते जा रहे हैं, मोदी जी हम किस नए भारत में जी रहे है, जबाब दीजिये क्योंकि उसने कहा ‘भारत में रहना है तो मोदी योगी को वोट देना है’.

Shyam Meera Singh
@ShyamMeeraSingh
ये RPF का मोदी भक्त कांस्टेबल- चेतन सिंह है. इसकी तैनाती- जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस ट्रेन में सुरक्षा देने वाले सिपाहियों में थी. भाजपा और आरएसएस के दुष्प्रचार ने इसकी रगों में नफ़रत भर इसे चलता-फिरता जौम्बी बना दिया. इसके साथ इसके सीनियर- ASI टीकाराम मीना थे. ट्रेन में हुई राजनितिक बहस के बीच ही इसने ASI टीकाराम मीना को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद इसने मधुबनी के अब्दुल कादिर की भी गोली मारकर हत्या कर दी. फिर ये आगे चला जहाँ इसे रेल बोगी की पैंट्ररी में एक आदमी मिला, उसे भी इसने मौत के घाट उतार दिया. फिर आगे S-6 कोच में गया. वहां इसे असगर अली नाम का जयपुर का एक चूड़ी बेचने वाला मिला उसे भी इसने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. हत्याएं करते हुए चेतन सिंह ये कह रहा है कि- हिंदुस्तान में रहना है तो योगी-मोदी कहना होगा. चेतन सिंह ने पहले अपने सीनियर की हत्या की बाद में बोगी में जो मुस्लिम मिले उन्हें बिना जाने ही उनकी हत्याएं कीं. ये सामान्य घटना नहीं है ये एक नस्लवादी घटना है, एक आतंकवादी घटना है, और इसके लिए आरएसएस-भाजपा का प्रचार तंत्र जिम्मेदार है. इसके लिए टीवी की बहसें जिम्मेदार हैं. भाजपा ने राजनितिक लाभ के लिए इस देश की नस्लों में सालों-साल के लिए नफरत बोई है. ऐसे जौम्बी कभी भी किसी को नोच सकते हैं. इस आतंकवादी घटना की आलोचना बिना इसकी जड़ यानी आरएसएस और भाजपा के दुष्प्रचार की आलोचना किये बिना नहीं की जा सकती. पूरे हिंदुस्तान ही नहीं , पूरी दुनिया के लिए ये शर्मशार करने वाली घटना है. ये आरएसएस के कारखाने के प्रोडक्ट हैं जो मानव-बम बनकर हमारे आसपास घूम रहे हैं.

ओबीसी महासभा (रजि.)
@OBC_MP
देश में नफ़रत पल रही है
ये RPF का मोदी भक्त कांस्टेबल- चेतन सिंह है. इसकी तैनाती- जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस ट्रेन में सुरक्षा देने वाले सिपाहियों में थी. भाजपा और आरएसएस के दुष्प्रचार ने इसकी रगों में नफ़रत भर इसे चलता-फिरता जौम्बी बना दिया. इसके साथ इसके सीनियर- ASI टीकाराम मीना थे. ट्रेन में हुई राजनितिक बहस के बीच ही इसने ASI टीकाराम मीना को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. इसके बाद इसने मधुबनी के अब्दुल कादिर की भी गोली मारकर हत्या कर दी. फिर ये आगे चला जहाँ इसे रेल बोगी की पैंट्ररी में एक आदमी मिला, उसे भी इसने मौत के घाट उतार दिया. फिर आगे S-6 कोच में गया. वहां इसे असगर अली नाम का जयपुर का एक चूड़ी बेचने वाला मिला उसे भी इसने गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया. हत्याएं करते हुए चेतन सिंह ये कह रहा है कि- हिंदुस्तान में रहना है तो योगी-मोदी कहना होगा. चेतन सिंह ने पहले अपने सीनियर की हत्या की बाद में बोगी में जो मुस्लिम मिले उन्हें बिना जाने ही उनकी हत्याएं कीं. ये सामान्य घटना नहीं है ये एक नस्लवादी घटना है, एक आतंकवादी घटना है, और इसके लिए आरएसएस-भाजपा का प्रचार तंत्र जिम्मेदार है. इसके लिए टीवी की बहसें जिम्मेदार हैं. भाजपा ने राजनितिक लाभ के लिए इस देश की नस्लों में सालों-साल के लिए नफरत बोई है. ऐसे जौम्बी कभी भी किसी को नोच सकते हैं. इस आतंकवादी घटना की आलोचना बिना इसकी जड़ यानी आरएसएस और भाजपा के दुष्प्रचार की आलोचना किये बिना नहीं की जा सकती. पूरे हिंदुस्तान ही नहीं , पूरी दुनिया के लिए ये शर्मशार करने वाली घटना है. ये आरएसएस के कारखाने के प्रोडक्ट हैं जो मानव-बम बनकर हमारे आसपास घूम रहे हैं.

https://twitter.com/i/status/1685930801157025792

Hansraj Meena
@HansrajMeena

“हिंदुस्तान में रहना है तो मोदी-योगी कहना है” ये कहते हुए आरपीएफ के जवान चेतन सिंह ने जयपुर-मुंबई ट्रेन में 4 लोगों की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी। मृतकों में 3 मुस्लिम और एक मीणा आदिवासी समुदाय का ASI टीकाराम मीणा शामिल है। यह दक्षिणपंथीयों द्वारा पोषित आतंकी हमला है। शर्मनाक।

डिस्क्लेमर : ट्वीट्स में व्यक्त विचार लोगों के अपने निजी विचार और जानकारियां हैं, तीसरी जंग हिंदी का कोई सरोकार नहीं है