दुनिया

Video:केरला बाढ़ पीड़ितो की मदद के लिए दुबई में काम करने वाले पाकिस्तानी कर्मचारीयों ने किया ये ऐलान-दिखाई इंसानियत

नई दिल्ली: भारत के दक्षिण में सबसे अधिक खुशहाल माने जाने वाला राज्य केरल में तेज बारिश और बाढ़ की वजह से लोगों का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है। कई क्षेत्रों में बाढ़ का पानी भर जाने से स्थिति और गंभीर हो गई है। वहां हालात बेहद खराब हो गए हैं। भारी बारिश और बाढ़ के चलते अब तक 370 लोगों की मौत हो चुकी है। पूरे राज्य से बाढ़ की खौफनाक तस्वीरें सामने आ रही हैं। एनडीआरएफ के अलावा, सेना की तीनों फोर्सेज राहत-बचाव कार्यों में लगी हुई हैं।

इस मुश्किल समय में भारत सहित दुनिया भर के लोग केरल के लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। केरल में भयावह बाढ़ से हुए जानमाल के भारी नुकसान को देखते हुए दुबई में रह रहे पाकिस्तानी कर्मचारियों ने वीडिया जारी कर बताया है कि वह एक दिन का अपना वेतन राज्य के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए देंगे। वीडियो जारी एक पाकिस्तानी शख्स ने कहा कि हम सब भाईयों ने मिलकर जितना हो सके उतना केरल में पीड़ित भाईयों की मदद करेंगे।

https://twitter.com/cheguwera/status/1030805779782217728?s=19

वहीं भीषण बाढ़ से जूझ रहे केरल की तरफ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने भी मदद का हाथ बढ़ाया है। यूएई सरकार की तरफ से वहां के प्रमुख अखबार गल्फ न्यूज में फूल पेज विज्ञापन के जरिए केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता की अपील की है।

संयुक्त अरब अमीरात ने केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए एक कमेटी बनाई है। इस मुश्किल समय में अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जायद अल नाह्यान ने केरल में बाढ़ से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए राष्ट्रीय आपातकालीन समिति के गठन का निर्देश दिया है। यूएई के उपराष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने एक ट्वीट में लोगों से मदद के लिए आगे आने की अपील की है।

राष्ट्रपति के निर्देशों के अनुसार, समिति की अध्यक्षता अमीरात रेड क्रिसेंट (ईआरसी) करेगी और इसमें संयुक्त अरब अमीरात के मानवीय संगठनों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। स्थानीय मीडिया के अनुसार यह समिति सऊदी अरब में भारतीय निवासी समुदाय के गणमान्य व्यक्तियों की मदद भी लेगी। अरब देश का कहना है कि केरल के लोग यूएई की कामयाबी की कहानी का हिस्सा हैं। खाड़ी के इस देश में केरल से ताल्लुक रखने वाले लोग खासी संख्या में हैं।

बता दें कि केरल में बारिश और बाढ़ ने 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। राज्य के कई हिस्से पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। पानी को बाहर निकालने के लिए 80 डैम खोल दिए गए हैं। अब तक 370 लोगों की जान जा चुकी है और दो लाख से अधिक लोग बेघर हो गए हैं। इन लोगों ने 1500 से ज्यादा राहत कैंपों में शरण ले रखी है। मूसलाधार बारिश और बाढ़ के चलते कोच्चि एयरपोर्ट तक में पानी भर गया है, जिसके चलते विमानों का संचालन पूरी तरह से रोक दिया गया है। ट्रेन और सड़क परिवहन सेवाएं ठप हो गई हैं।